comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Explainer: सेंसेक्स 50,000 के करीब पहुंचा, निफ्टी का वैल्यूएशन ऑल टाइम हाई पर, क्या करे निवेशक?

Explainer: सेंसेक्स 50,000 के करीब पहुंचा, निफ्टी का वैल्यूएशन ऑल टाइम हाई पर, क्या करे निवेशक?

हाईलाइट

  • सेंसेक्स और निफ्टी 50 स्टिमुलस और बुलिश सेंटीमेंट की उम्मीद पर ऑल टाइम हाई पर
  • निफ्टी ने मंगलवार को 40x के रिकॉर्ड वैल्यूएशन को हिट किया
  • एक्सपर्ट बजार में शॉर्ट टर्म करेक्शन की संभावना जता रहे हैं

मुंबई। बीएसई सेंसेक्स और निफ्टी 50 स्टिमुलस और बुलिश सेंटीमेंट की उम्मीद पर ऑल टाइम हाई पर ट्रेड कर रहे हैं। बुधवार को एनएसई का निफ्टी लगभग फ्लैट रहा और 14565 के स्तर पर बंद हुआ। इससे पहले मंगलवार को निफ्टी 14,563.45 पर बंद हुआ और 40x के रिकॉर्ड वैल्यूएशन को हिट किया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर उपलब्ध डेटा के अनुसार प्रिवियस सेशन में इंडेक्स 39.94 के P/E मल्टिपल पर बंद। ऐसे में एक्सपर्ट बजार में शॉर्ट टर्म करेक्शन की संभावना जता रहे हैं।

कैपिटलवाया ग्लोबल रिसर्च की सीनियर रिसर्च एनालिस्ट लिखिता चेपा कहती है, 'चूंकि वैल्यूएशन काफी ज्यादा है, इसलिए शॉर्ट टर्म करेक्शन के चांस बढ़ गए हैं। निफ्टी पहले ही 14,550 को पार कर चुका है और अब सभी की नजरें सेंसेक्स पर हैं क्योंकि 50,000 का निशान भारतीय बेंचमार्क इंडेक्स के लिए काफी अहम होगा। बीएसई सेंसेक्स 50,000 के स्तर से सिर्फ 500 अंक दूर है। एक एनालिस्ट के अनुसार, सेंसेक्स के इस स्तर को तोड़ने के चांस काफी ज्यादा हैं क्योंकि अधिकांश फर्मों के क्वार्टर 3 परिणाम पिछले तिमाही की तुलना में बेहतर होने की उम्मीद है।

वर्तमान स्तरों से सेंसेक्स, निफ्टी की दिशा क्या होगी?
आज के सत्र में, हेडलाइन इंडेक्स मजबूत खुले लेकिन उच्च स्तर पर लगातार बिकवाली के कारण अस्थिरता देखी गई। बोनान्ज़ा पोर्टफोलियो लिमिटेड के रिसर्च हेड विशाल वाघ ने बताया कि तेजी के बाजार में इंट्राडे डिप खरीदारी का मौका है। जब प्रमुख सूचकांक ऑल टाइम हाई पर होते हैं, तो निविशकों को बाय ऑन डिप की स्ट्रैटजी को अपनाना चाहिए। मौजूदा रैली तब तक जारी रह सकती है जब तक निफ्टी क्लोजिंग बेसिस पर 14470 से ऊपर है। वाघ ने यह भी कहा कि निफ्टी ऊपर की तरफ 14710 के लेवल को टच कर सकता है।

निवेशकों की रणनीति क्या होनी चाहिए?
केंद्रीय बजट 2021 से पहले टेक्निकल एनालिस्टों को और अधिक तेजी की उम्मीद है। इस साल, केंद्रीय बजट 1 फरवरी 2021 को संसद में पेश किया जाएगा। पिछले महीने, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि यह बजट पिछले 100 वर्षों से अलग होगा। एक्सिस सिक्योरिटीज के हेड टेक्निकल एंड डेरिवेटिव्स राजेश पलविया ने कहा कि निवेशकों को बाजार में बने रहना चाहिए और अपने स्टॉप लॉस को 14200-14000 के स्तर पर रखना चाहिए। एफआईआई के स्ट्रॉन्ग बाइंग फ्लो से संकेत मिलता है कि यह रैली जारी रहेगी और शॉर्ट टर्म में निफ्टी 15000 के स्तर का टच कर सकता है। इसलिए गिरावट में खरीदारी हमारी पसंदीदा रणनीति बनी हुई है।

चेपा ने ट्रेडर और छोटे निवेशकों को स्ट्रिक्ट स्टॉप लॉस का पालन करने की सलाह दी। जबकि लंबी अवधि के निवेशकों को करेक्शन में खरीदारी के अवसर खोजना चाहिए। कोटक सिक्योरिटीज के एक एनालिस्ट ने कहा कि अगर निफ्टी और सेंसेक्स 14435 और 49100 से नीचे ट्रेड करते हैं तो भारतीय शेयर बाजार में करेक्शन से इंकार नहीं किया जा सकता है। उक्त स्तरों के नीचे, निफ्टी में 14400-14300 और बीएसई सेंसेक्स में 49000-48650 तक करेक्शन आ सकता है। वहीं कोटक सिक्योरिटीज में इक्विटी टेक्निकल रिसर्च के एक्जिक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट श्रीकांत चौहान ने कहा, इंडेक्स के लिए 14650/49700 का लेवल इमिडिएट हर्डल होगा। इन स्तरों को पार करने के बाद सेंसेक्स और निफ्टी 14700-14735 / 49850-50000 तक रैली कर सकता है।

कमेंट करें
w51zn
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।