दैनिक भास्कर हिंदी: Delhi: आज 3583 कोरोना संक्रमित मिले, केजरीवाल बोले- दिल्ली में कोरोना की चौथी लहर, लॉकडाउन लगाना होगा तो पहले दिल्ली के लोगों से पूछेंगे

April 2nd, 2021

हाईलाइट

  • देश में कोरोना की दूसरी और दिल्ली में चौथी लहर
  • दिल्ली में आईसीयू बेड की संख्या में की वृद्धि

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राजधानी में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को 3582 लोगों में संक्रमण की पुष्टि की है। कोरोना के बढ़ते मामले को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोरोना की यह चौथी लहर है। हम हर संभव उपाय कर रहे हैं। चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। दिल्ली में लॉकडाउन नहीं लगेगा। अगर लॉकडाउन लगाना होगा तो पहले दिल्ली के लोगों से पूछेंगे।

बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों की समीक्षा के लिए शुक्रवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आपात बैठक बुलाई थी। बैठक में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के साथ संबंधित विभागों के अधिकारी शामिल हुए। बैठक में दिल्ली में बढ़ते कोरोना केस की रोकथाम के लिए एक्शन प्लान, वैक्सीनेशन की मौजूदा स्थिति, कंटेनमेंट जोन, अस्पतालों के बेड़ प्रबंधन और सिरो सर्वे के साथ वर्तमान में कोरोना मामलों की समीक्षा की गई।

लॉकडाउन लगाने जैसी स्थिति नहीं
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में लॉकडाउन नहीं लगेगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना की चौथी लहर है। 16 मार्च को 425 केस थे, आज 3 हजार 582 केस आए। दिल्ली में तेजी के साथ कोरोना मामले बढ़ रहे हैं, जो चिंता की बात है। इस बार की लहर पिछली लहर से कम गंभीर है। ICU में अक्टूबर के मुकाबले आज कम मरीज भर्ती हो रहे हैं, तब 40 मौतें हो रही थीं, आज 10 मौत हो रही हैं। सरकार लॉकडाउन का विचार नही कर रही है।

देश में कोरोना की दूसरी और दिल्ली में चौथी लहर
सीएम केजरीवाल ने कहा कि वर्तमान में कोरोना महामारी की जो लहर चल रही है, वो पिछली लहरों की तरह गंभीर नहीं है। इसलिए दिल्ली में किसी भी तरह के कोई लॉकडाउन की जरूरत नहीं है। हमलोग स्थिति की समीक्षा करेंगे। साथ ही मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि अगर लॉकडाउन की स्थिति उत्पन्न होती है तो इस तरह का कोई भी निर्णय लेने से पहले सलाह मशविरा करूंगा। उन्होंने कहा कि यह देश में कोरोना की दूसरी लहर है, लेकिन दिल्ली के लिए चौथी लहर है।

स्वास्थ्य विभाग सक्रिय
वहीं दूसरी तरफ कोरोना की वजह से दिल्लीवासियों को दिक्कतों का सामना न करना पड़े, इसके लिए अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग सक्रिय हो गया है। दिल्ली के 33 बड़े अस्पतालों में 25-25 फीसद ICU और समान्य बेड बढ़ा दिए गए हैं। इन 33 अस्पतालों में 30 मार्च तक कोविड के 1705 समान्य बेड थे, जो अब बढ़ कर 2547 हो गए हैं। इस तरह 842 कोविड के समान्य बेड बढ़ा दिए गए हैं।

ICU बेड की संख्या में की वृद्धि
इसी तरह, कोविड मरीजों के लिए 30 मार्च तक 608 ICU बेड थे, जिसमें 230 बेड की वृद्धि की गई है और अब दिल्ली में कोविड के लिए 838 ICU बेड हो गए हैं। जिला स्तर पर सर्विलांस टीमें नजर बनाए हुई हैं। कोरोना से संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों की पहचान की जा रही है। संक्रमितों के संपर्क में आए कम से कम 30 लोगों को ट्रेस किया जा रहा है और जांच कर उन्हें आइसोलेट किया जा रहा है, ताकि उनके जरिए दूसरें लोगों में कोरोना के संक्रमण को रोका जा सके।

वैक्सीनेशन तेज
दिल्ली में वैक्सीनेशन सेंटर को बढ़ाकर 600 के लगभग कर दिया गया है। वहीं गुरुवार से 45 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों के लिए वैक्सीनेशन अभियान शुरू कर दिया गया है। जो लोग वैक्सीनेशन के लिए अभी तक पंजीकरण नहीं करा पाए हैं, उन्हें भी वैक्सीन लगवाने के लिए सहूलियतें प्रदान कर दी गई हैं। ऐसे लोग दोपहर 3 बजे से रात 9 बजे के बीच किसी भी वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर वैक्सीन लगवा सकते हैं।

खबरें और भी हैं...