पर्यटन मंत्रालय: एनईडीएफआई ने पूर्वोत्तर में एंटरप्रेन्योर मीट का किया आयोजन

December 7th, 2021

हाईलाइट

  • भारत सरकार की जैविक केंद्रीय क्षेत्र योजना

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पर्यटन मंत्रालय के तहत नॉर्थ ईस्टर्न डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एनईडीएफआई) ने नामची और गंगटोक शाखा में सोमवार को बिजनेस कम एंटरप्रेन्योर मीट का आयोजन किया।

इसमें सिक्किम के पूर्वी और उत्तरी जिलों के उद्यमियों ने भाग लिया। इस दौरान एनईडीएफआई के अधिकारियों ने केंद्र की विभिन्न योजनाओं और नई घटी ब्याज दर के बारे में विस्तार से बताया। प्रतिभागियों को एफपीओ के बीच जैविक उत्पाद प्रसंस्करण इकाइयों को प्रोत्साहित करने के लिए उत्तर पूर्वी क्षेत्र के लिए मिशन ऑर्गेनिक वैल्यू चेन डेवलपमेंट (एमओवीसीडी-एनईआर) भारत सरकार की जैविक योजना के तहत एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना की जानकारी दी गुई। इसका उद्देश्य भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्र में जैविक मूल्य श्रृंखलाओं का विकास करना है।

यह योजना पूर्वोत्तर के सभी आठ राज्यों- अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम और त्रिपुरा में में लागू की गई है। इसके बाद शाखा प्रबंधक द्वारा प्रतिभागियों के साथ प्रतिभूतियों, ऋण के लिए पात्रता, आवश्यक दस्तावेजों आदि जैसे विभिन्न ऋण संबंधी प्रश्नों पर एक संवाद सत्र आयोजित किया गया। ग्राहकों, चार मौजूदा इकाइयों को उनके संवितरण के हिस्से के रूप में चेक जारी किए गए।

पर्यटन मंत्रालय ने लोगों, मुख्य रूप से युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए अपना खुद का व्यवसाय शुरू करके उद्यमिता में प्रवेश करने के लिए एनईडीएफआई के तहत इसकी शाखाओं (नामची और गंगटोक) में बिजनेस कम एंटरप्रेन्योर मीट का आयोजन किया। बैठक में नामची और जारेथांग टाउन के 30 संभावित और मौजूदा उद्यमियों ने भाग लिया। इस दौरान प्रतिभागियों को एनईडीएफआई की विभिन्न ऋण योजनाओं के बारे में बताया गया और उसकी कम ब्याज दर पर प्रकाश डाला गया। उन्हें क्षेत्र के विकास के लिए एनईडीएफआई द्वारा की गई विभिन्न पहलों के साथ-साथ ऋण प्रक्रिया के बारे में भी जानकारी दी गई।

सत्र के दौरान प्रतिभागियों ने मुख्य रूप से होम स्टे, व्यापारिक गतिविधियों और कृषि-संबद्ध गतिविधियों, रेस्तरां आदि के अपने मौजूदा व्यवसायों की शुरुआत करने और इसके विस्तार पर काफी संदेह जताया  जिसका हल अधिकारियों ने किया।

 

(आईएएनएस)