comScore
Dainik Bhaskar Hindi

पुलिस के पुख्ता इंतजाम, संवेदनशाील स्थलों पर कड़ी नजर

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 06th, 2018 15:09 IST

1.6k
1
0
पुलिस के पुख्ता इंतजाम, संवेदनशाील स्थलों पर कड़ी नजर

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। बाबरी मस्जिद ढांचा ढहने के  बाद पूरे देश में  मची उथल पुथल और दंगे फसादों को आम आदमी भले ही भूल गया हो किंतु प्रशासन इस तारीख 6 दिसंबर को एतिहातन हमेशा याद रखता है। अयोध्या में हुई 6 दिसंबर 1992 की घटना के बाद शहर में हर साल इस दिन शासन प्रशासन द्वारा सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किये जाते है। ताकि इस दौरान किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटना न हो। हांलाकि इतने साल हो जाने के बाद भी शहर में हमेशा अमन चैन बना रहता है लेकिन इसके बाद भी इस दिन पुलिस किसी प्रकार की कोई लापरवाही नहीं बरती है। यही वजह हैं कि आज गुरूवार को संवेदनशील जगहों पर पुलिस बल तैनात है। जो किसी भी प्रकार की आवंछित गतिविधियों से निपटने के लिए तैयार है।

विशेष बल लगाया गया है
शहर में ऐसे अनेक स्थल हैं जहां शांति व्यवस्था बिगडऩे का अंदेशा बना रहता है । अभी सप्ताह भर पूर्व विधानसभा चुनाव संपंन्न हुए जिसकी मतगणना शेष है । चुनाव के दौरान कई स्थानों पर राजनीतिक दलों के कार्यकत्र्ताओं के बीच झड़पें हुई थीं । इन घटनाओं को मद्देनजर रखते हुए भी प्रशासन ने संवेदनशील स्थलों पर पुलिस की कड़ी व्यवस्था कर रखी है।

संवेदनशील स्थलों पर पुलिस की कड़ी नजर
6 दिसम्बर को शहर में विशेष पुलिस तैनात किया जाता है। जिसमें संवेदनशील क्षेत्रों में पुलिस बल तैनात रहती हैं। वहीं घुड़सवारी पर पुलिस बल घूम-घूम कर निगरानी रखती है। गौरजलब है कि आज से 26 साल पहले अयोध्या में 6 दिसंबर को लाखों की संख्या में कारसेवकों ने अयोध्या पहुंचकर बाबरी मस्जिद को गिराया था। जिसके बाद देश भर में सांप्रदायिक दंगे हुए और इसमें कई बेगुनाह मारे गए थे। कानून व्यवस्था से खिलवाड़ करने की कोशिश करने वालों पर सख्त कार्रवाई  करने की पुलिस ने पूरी व्यवस्था कर रखी है ।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें