comScore

बाघ के हमले से वृद्ध घायल, कुत्तों ने नीलगाय के बछड़े को मारा

बाघ के हमले से वृद्ध घायल, कुत्तों ने नीलगाय के बछड़े को मारा

डिजिटल डेस्क, नागपुर। धामना क्षेत्र के सिरपुर गांव में बीती रात खेत में रखवाली करने गए वृद्ध पर बाघ ने हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। प्राप्त जानकारी के अनुसार धापेवाड़ा निवासी केशव शामराव पारसे (60) रोजाना की तरह खेत में रखवाली करने गए थे। शनिवार की सुबह करीब 3 बजे के दौरान अचानक आंख खुलने पर उसे एक बाघ समीप नजर आया।

बाघ को देखकर घबराए केशव के शोर मचाते ही बाघ ने पीछे से हमला कर उसे घायल कर दिया। केशव की आवाज सुनकर पास के ही खेत में रखवाली कर रहे भीमराव तुरणकर व कृष्ण कडू मौके पर पहुंचे और हिंगना वनक्षेत्र के वनरक्षक शेख को सूचना दी। घटना कलमेश्वर पुलिस स्टेशन की हद में व हिंगना वनक्षेत्र में हुई। रेंजर नेवावे, शेख, कोड़ापे, सहायक हिरामण पाटील ने घायल केशव को उपचारार्थ मेडिकल अस्पताल रवाना किया। क्षेत्र में बढ़ रही बाघ के हमले की घटना से स्थानीय नागरिकों में दहशत व्याप्त है।

नीलगाय के बछड़े पर हमला

उधर हिंगना में सुबह नागपुर शहर से सटे मिहन परिसर में श्वानों के हमले में नीलगाय के बछड़े की मौत हो गई। जंगल में पानी की किल्लत के चलते पानी की तलाश में वन्यप्राणी गांव और शहर का रुख कर रहे हैं, जिसके चलते ऐसी घटनाएं हो रही हैं। यह घटना नागपुर शहर के सेमिनरी हिल्स वन विभाग क्षेत्र में हुई। सुबह 7.30 बजे मिहान परिसर की डब्ल्यू बिल्डिंग के पास 7-8 श्वानों ने नीलगाय के बछड़े पर जानलेवा हमला कर दिया।

यह बछड़ा करीब डेढ़ साल की उम्र का बताया गया है। मिहान से किसी ने सुबह 8 बजे के करीब पिपल्स फॉर एनिमल्स संस्था के सदस्य सागर अड्यालकर को फोन कर इसकी सूचना दी। सागर तत्काल अपने सहयोगियों के साथ मिहान पहुंचे, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। नीलगाय के बछड़े की अवस्था काफी गंभीर थी। पीएफए के मुख्य सलाहकार पराग वानखेड़े ने इस घटना की जानकारी हिंगना वन परिक्षेत्र अधिकारी आशीष निनावे को दी।

निनावे ने नागपुर वन परिक्षेत्र अधिकारी को वानखेड़े का मोबाइल नंबर देकर घटना की जानकारी दी। पश्चात नागपुर की रेस्क्यू टीम के कर्मचारी न्यानेश्वर मुंडे ने घटना स्थल पहुंचकर पंचनामा किया। पिपल्स फॉर एनिमल्स संस्था के सदस्यों की मदद से मृत नीलगाय के बछड़े को वन विभाग की गाड़ी में नागपुर रवाना किया गया। जख्मी नीलगाय के बछड़े की मौत ज्यादा खून बहने से होने की जानकारी मिली है। रितीक शेटे, कृतिक बचाले, संजय बचाले, सागर कानफाड़े, अभिनय जोशी व भूपेश ठाकरे ने बचाव कार्य में सहयोग किया।

कमेंट करें
jaNW9