comScore

आधार ने बढ़ाया टेंशन : 1 लाख 12 हजार में से केवल 12 हजार किसानों को मिली सम्मान निधि

March 09th, 2019 10:05 IST
आधार ने बढ़ाया टेंशन : 1 लाख 12 हजार में से केवल 12 हजार किसानों को मिली सम्मान निधि

डिजिटल डेस्क, नागपुर। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लिए पात्र हुए जिले के 1 लाख 11 हजार 847 किसानों के चेहरे की खुशी आधार कार्ड ने उड़ा दी है। जिला प्रशासन ने इन पात्र किसानों के नाम केंद्र को भेजे, लेकिन आधार कार्ड के मुताबिक नाम व स्पेलिंग मैच नहीं होने से अब तक केवल 12 हजार किसानों के बैंक खाते में ही 2-2 हजार रुपए जमा हो सके है। आधार कार्ड ने किसानों का टेंशन बढ़ा दिया है। याद रहे केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 5 एकड़ जमीन वाले किसानों को सालाना 6 हजार व पहली किश्त के रूप में सभी पात्र किसानों के बैंक खाते में मार्च महीने में 2-2 हजार रुपए जमा करने का निर्णय लिया है। जिला प्रशासन ने दस्तावेजों की जांच पड़ताल करने के बाद 28 फरवरी तक केंद्र सरकार को 1 लाख 11 हजार 847 पात्र किसानों के नाम केंद्र द्वारा जारी संबंधित पोर्टल पर भेजे। जिले में अब तक केवल 12 हजार किसानों के खाते में ही 2-2 हजार की पहली किश्त जमा हुई। एक लाख किसानों को अब तक सम्मान निधि नहीं मिल सकी है। सूत्रों के अनुसार दस्तावेजों व आधार कार्ड पर एक जैसा ही नाम चाहिए। इसीतरह दस्तावेज व आधार कार्ड पर नाम की स्पेलिंग भी एक जैसी ही चाहिए। नाम व स्पेलिंग में आ रहा मामूली बदल ही किसानों पर भारी पड़ रहा है। आधार कार्ड पर जो नाम है, वहीं नाम सात-बारा पर होना जरूरी है। नाम के आगे बहुत बार जी या राव लगा दिया जाता है। इसके अलावा श्याम को श्याम्या, लक्ष्मण को लक्ष्या या राम को राम्या भी बोला जाता है। नामों में इसतरह के बदलाव से किसानों को निधि मिलने में मुश्किल हो रही है। 

25 हजार किसान जुडेंगे 

जिला प्रशासन की तरफ से किसानों के दस्तावेजों की जांच पड़ताल की प्रक्रिया जारी है। योजना में और 25 हजार किसान जुड़ने की संभावना है। दस्तावेजों की जांच पूरी होने के बाद इनके नाम पोर्टल पर डाले जाएंगे। योजना में पात्र किसानों को शामिल करने की प्रक्रिया जारी है। 

करेक्शन होगा, सभी पात्र किसानों को निधि मिलेगी 

रवींद्र खजांजी, निवासी उपजिलाधीश के मुताबिक आधार कार्ड पर जो नाम है, उसीतरह का नाम दस्तावेजों पर होना जरूरी है। आधार कार्ड पर दर्ज नाम को आधार मानकर लाभार्थी को निधि दी जा रही है। नामों में करेक्शन होगा और सभी पात्र किसानों को निधि मिलेगी। इस योजना में और किसानों को जोड़ने की प्रक्रिया जारी है।

कमेंट करें
7OFXV