comScore

पूर्व सीएम शिवराज पर 450 करोड़ घोटाले का आरोप, ईओडब्ल्यू करेगी जांच

पूर्व सीएम शिवराज पर 450 करोड़ घोटाले का आरोप, ईओडब्ल्यू करेगी जांच

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार पूर्व सीएम शिवराज सिंह पर बड़ी कार्रवाई करने जा रही है। शिवराज पर नर्मदा किनारे किए गए पौधारोपण में घोटाले का आरोप है। सरकार ने घोटाले की जांच का जिम्मा ईओडब्ल्यू(EOW) को सौंप दिया है। राज्य के वनमंत्री उमंग सिंघार ने पूर्व मुख्यमंत्री पर गंभीर आरोप लगाया है।

शुक्रवार को सिंघार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि शिवराज ने जनता के पैसों का दुरुपयोग किया है। 2 जुलाई 2017 को नर्मदा किनारे 6 करोड़ पौधा रोपण में तत्कालीन सरकार और अधिकारियों ने घोर अनियमितताएं की है। सिंघार ने कहा कि अपने आप को नर्मदा पुत्र कहने वाले शिवराज सिंह ने 450 करोड़ का आर्थिक घोटाला किया। उन्होंन मां नर्मदा का सीना छलनी किया है। मैं वादा करता हूं कि इस घोटाले में दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। 

उन्होंने कहा, 2 जुलाई 2017 को पूर्व सीएम ने नर्मदा किनारे पांच करोड़ पौधे लगाने के आदेश दिए थे। पौधे की राशि 455 करोड़ रुपए बताई थी। जांच में पता चला कि मौके पर सिर्फ 14 प्रतिशत पौधे लगाए गए। गिनीज बुक में रिकॉर्ड दर्ज कराने के लिए दूसरे राज्यों से पौधे मंगवाए गए।

पौधारोपण के नाम पर शिवराज सरकार ने बड़ा घोटाला किया है। मंत्री सिंघार ने आरोप लगाते हुए कहा कि जांच में जहां 15 हजार गड्ढे होने थे वहां सिर्फ 9 हजार के आसपास ही मिले। शिवराज सरकार ने कागजी पौधारोपण किया,क्योंकि एक दिन में इतने पौधे लगाना संभव नहीं है। 

उमंग सिंघार ने आगे कहा कि इस घोटाले को छुपाने काफी कोशिश की गई। अब घोटाले के सभी आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा, शिवराज ने विश्व रिकॉर्ड बनाने के लिए जनता के पैसों का दुरुपयोग किया है। 

कमेंट करें
WtaQw