comScore

मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस करेंगे 24 करोड़ 40 लाख की जलापूर्ति योजना का भूमिपूजन

October 24th, 2018 16:35 IST
मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस करेंगे 24 करोड़ 40 लाख की जलापूर्ति योजना का भूमिपूजन

डिजिटल डेस्क, वर्धा। जिले के गांवों में अब शीघ्र ही जलसंकट की स्थिति ने निजात मिलेगी।  27  करोड़ 40  लाख की लागत से पिपरी व 13  गांवों की जलापूर्ति योजना का भूमिपूजन 25 अक्टूबर को मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस के हाथों होगा। समारोह में केन्द्रीय मंत्री नितीन गडकरी, गृह राज्यमंत्री हंसराज अहिर, मंत्री गिरीश महाजन, राज्य के गृहराज्यमंत्री रणजीत पाटील आदि उपस्थित रहेंगे।  विधायक डॉ. पंकज भोयर के प्रयासों से 13-14  गांवों की पेयजल समस्या का निराकरण के लिए पिपरी व 13  गांवों में 27  करोड़ 40  लाख करोड़ की लागत से जलापूर्ति योजना साकार होने वाली है। सावंगी मेघे के साहू ले आउट परिसर में इस योजना का भूमिपूजन होगा। 

जलसंकट से मिलेगी राहत 
वर्धा शहर से सटे 13-14 गांवों में हमेशा ही पेयजल संकट की स्थिति बनी रहती है। इन गांवों के नागरिकों की लगातार मांग को देखते हुए विधायक डा. पंकज भोयर ने मुख्यमंत्री फडणवीस से मिलकर योजना मंजूर करवाई। मुख्यमंत्री फडणवीस का वर्धा व हिंगणघाट दौरे के दौरान उक्त योजना का भूमिपूजन होगा। 

महाराष्ट्र जीवन प्राधिकरण द्वारा पिपरी मेघे व इन गांवों के वृद्धिगत जलापूर्ति योजना के लिए प्रशासकीय मंजूरी 19  अप्रैल 2017  को मिली। इस योजना के लिए जलापूर्ति व स्वच्छता विभाग, मुंबई मंत्रालय, नागपुर मुख्य अभियंता की मंजूरी प्राप्त हुई है। इसके तहत 27  करोड़ 40  लाख की लागत से वरुड, आलोडी, नालवाड़ी, साटोडा, पिपरी मेघे, सावंगी मेघे, बोरगांव मेघे, सिंदी,  मसाड़ा, कारला, वायगांव, उमरी, सालोड हीरापुर, दत्तपुर गांव में जलापूर्ति योजना क्रियान्वित की जाएगी।  

ऐसे बनेंगे जलकुंभ
योजना के तहत पिपरी मेघे गांव में 3.50  लाख लीटर की 20  मीटर ऊंचा जलकुंभ, सिंदी मेघे व उमरी मेंघे में 8 लाख लीटर 6 मीटर ऊंचा, सावंगी मेघे में 9.60 लाख लीटर 19  मीटर ऊंचा, बोरगांव मेघे में 2 लाख लीटर 19 मीटर ऊंचा, आलोडी व साटोडा में 4 लाख लीटर व 24 मीटर ऊंचा, नालवाडी व दत्तपुर में 5 लाख लीटर व 18 मीटर ऊंचा तथा वायगांव निपानी में 2 लाख लीटर 12 मीटर ऊंचा क्षमता का जलकुंभ बनाया जाएगा।

तीन बार बुलाई निविदा 
राज्य मार्ग के रोड कटिंग से गुरत्वनलिका व वितरण व्यवस्था डालने के लिए आवश्यक अनुमति की कार्रवाई शुरू है। योजना की प्रथम व द्वितीय निविदा रद्द हुई है,  जिससे तीसरी बार निविदा बुलाई गई है। ठेकेदार का चयन किया गया है। ठेकेदार को अनामत राशि भरने संबंधित सूचना दी गई है। इस संबंध में नांदेड के मे. शोभा कंस्ट्रक्शन को कार्यादेश दिया गया है।  

कमेंट करें
qhU65