comScore
Election 2019

JEE : देर से आए नोटिफिकेशन, सिलेबस अधूरा रहने से स्टूडेंट्स के पास नहीं रहा समय

December 03rd, 2018 17:00 IST
JEE : देर से आए नोटिफिकेशन, सिलेबस अधूरा रहने से स्टूडेंट्स के पास नहीं रहा समय

डिजिटल डेस्क, नागपुर। ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम अब दो बार होगा।  पहला 8 से 12 जनवरी के बीच और फिर अप्रैल में। लेकिन, जनवरी में होने वाले जेईई मेन्स के पहले अटैंप्ट को नोटिफिकेशन काफी देर से सितम्बर में जारी किया गया, जिसके बाद अधिकतर स्टूडेंट्स वे 12वीं के हों या ड्रॉपर्स, इनका जेईई की प्रिपरेशन का सिलेबस ही अभी पूरा नहीं हो पाया है। यही वजह है कि, इस बार स्टूडेंट्स के पास पहले अटैंप्ट के लिए रिवीजन करने का समय बहुत कम रहने वाला है और सिर्फ 15 दिनों के भीतर ही उन्हें पूरा जेईई का सिलेबस कंप्लीट करना होगा।  इस संदर्भ में हमने एक्सपर्ट से जाना कि, कम समय में कौन से इम्पॉर्टेंट टॉपिक हैं, जिन्हें पढ़ लिया जाए, तो ज्यादा स्कोर अचीव किया जा सकता है।

कम से कम 10 सालों के पुराने पेपर सॉल्व करें
एक्सपर्ट के अनुसार, ड्रॉप करने वाले स्टूडेंट्स की तो तैयारी ही जुलाई से शुरू होती है, ऐसे में यदि यह नोटिफिकेशन जून या जुलाई में आ गया होता, तो स्टूडेंट्स के पास पूरे सिलेबस को नवंबर तक खत्म कर पाने का समय होता। यही हाल 12वीं के स्टूडेंट्स का है। लगभग दोनों ही तरह के स्टूडेंट्स इन दिनों सिलेबस पूरी करने की जद्दोजहद में लगे हैं, ऐसे में स्टूडेंट्स के पास मुश्किल से 15 से 20 दिनों का ही समय बचेगा, जब उन्हें सारा सिलेबस रिवाइज करना है। कोशिश करें कि बचे हुए समय में कम से कम पिछले 10 सालों का जेईई का पेपर (4-5 साल के जेईई मेन्स, और उससे पहले एआईईईई के पेपर) सॉल्व करें। साथ ही, कोशिश करें कि, सभी टॉपिक्स के कम से कम 50-50 सवाल जरूर हल कर लें।

सब्जेक्ट के हिसाब से ये हैं आईएमपी टॉपिक 
मैथ्स - कैल्कुलस, डिफरेंशियल इक्वेशन, प्रोबेबिलिटी एंड रैंडम वैरिएबिल, कॉम्पलेक्स नंबर, थ्री-डी, कोऑर्डिनेट सिस्टम और वेक्टर एलजेबरा 
फिजिक्स - इलेक्ट्रोस्टेटिक्स, रोटेशनल मैकेनिक्स, वर्क पावर एनर्जी, इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड, फ्लूड मैकेनिक्स, मॉडर्न फिजिक्स 
केमेस्ट्री - ऑर्गेनिक केमेस्ट्री में जनरल ऑर्गेनिक केमेस्ट्री और हाइड्रोकार्बन्स, इनऑर्गेनिक केमेस्ट्री में कोऑर्डिनेशन केमेस्ट्री और पी-ब्लॉक एलीमेंट्स और फिजिकल केमेस्ट्री में केमिकल काइनेटिक्स, थर्मो डायनामिक्स-थर्मो केमेस्ट्री और इलेक्ट्रो केमेस्ट्री
 

Loading...
कमेंट करें
v7JW1
Loading...