comScore

लेफ्टिनेंट कर्नल एमएस धोनी 31 जुलाई से कश्मीर में पेट्रोलिंग और गार्ड ड्यूटी करेंगे

लेफ्टिनेंट कर्नल एमएस धोनी 31 जुलाई से कश्मीर में पेट्रोलिंग और गार्ड ड्यूटी करेंगे

हाईलाइट

  • धोनी 31 जुलाई से 15 अगस्त तक सेना के साथ कश्मीर में ट्रेनिंग करेंगे
  • धोनी पेट्रोलिंग, गार्ड और पोस्ट की ड्यूटी संभालेंगे

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम 3 अगस्त से लगभग एक महीने के लिए वेस्टइंडीज दौरे पर रहेगी। टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी ने इस दौरे से आराम लिया है। धोनी ने 2 महीने की छुट्टी ली है। इस दौरान वे भारतीय सेना में अपनी सेवाएं देंगे। धोनी ने भारतीय सेना की पैराशूट रेजिमेंट के साथ अपनी 2 महीने की ट्रेनिंग शुरू कर दी है। धोनी बुधवार को पैराशूट रेजिमेंट की बटालियन में शामिल हुए, जिसका हेडक्वार्टर बेंगलुरू में है।

सूत्रों के अनुसार धोनी लंबे सयम से इस बारे में विचार कर रहे थे। जैसे धोनी भारतीय क्रिकेट के महानतम सेवकों में से एक हैं, वैसे ही सेना के लिए उनका प्यार भी जगजाहिर है। वह लंबे समय से अपनी रेजिमेंट के साथ समय बिताने के बारे में सोच रहे थे, लेकिन क्रिकेट के कारण वह ऐसा नहीं कर पा रहे थे। उन्होंने कहा, इससे युवाओं में सेना को लेकर जागरुकता फैलेगी और यही धोनी चाहते हैं।

38 साल के धोनी पैराशूट रेजिमेंट (106 पैरा टीए बटालियन) की प्रादेशिक सेना इकाई में लेफ्टिनेंट कर्नल की पोस्ट पर हैं। धोनी 31 जुलाई से 15 अगस्त तक यूनिट के साथ कश्मीर में ट्रेनिंग करेंगे, यह यूनिट विक्टर फोर्स का हिस्सा है। धोनी यहां पेट्रोलिंग, गार्ड और पोस्ट की ड्यूटी संभालेंगे। इस दौरान वे जवानों के साथ ही रहेंगे। 

धोनी को भारतीय सेना ने 2011 में यह सम्मान दिया था। इसके अलावा, अभिनव बिंद्रा और दीपक राव को भी यह सम्मान दिया गया था। धोनी 2015 में एक क्वालीफाइड पैराट्रपर बने। उन्होंने आगरा स्थित ट्रेनिंग कैम्प में ट्रेनिंग के रूप में आर्मी के विमान से पांच बार पैराशूट के साथ जंप की थी। 

कमेंट करें
SeHZc