comScore
Dainik Bhaskar Hindi

मेट्रो का पिलर गिरने से भगदड़, गुस्साई भीड़ ने क्रेन में तोड़फोड़ कर लगाई आग

BhaskarHindi.com | Last Modified - November 24th, 2017 18:37 IST

726
0
0

डिजिटल डेस्क, नागपुर। उपराजधानी में मेट्रो निर्माण कार्य के दौरान लोहे के सरियों से कसा पिलर अचानक सड़क पर आ गिरा। शुक्रवार दोपहर साढ़े 3 बजे पिलर पर दो कर्मचारी काम कर रहे थे। उसी दौरान लोहे के सरियों से कसा जा रहा वजनी पिलर सड़क की दूसरी ओर गिर गया। भगदड़ मचते ही कर्मचारी भाग खड़े हुए और गुस्साई भीड़ ने तोड़फोड़ कर दी। लोगों ने क्रेन में तोड़फोड़ की, साथ ही एक ऑटो को भी आग के हवाले कर दिया। लोगों का आरोप है कि मेट्रो निर्माण के दौरान सुरक्षा का ध्यान बिल्कुल नहीं रखा जा रहा। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। जिसने गुस्साए लोगों को काबू किया गया। हालात को देखते हुए वहां पुलिस का विशेष दस्ता QRT लगाया गया है। ताकि हालात बिगड़ते ही पुलिस बल का प्रयोग कर काबू पा सके। घटना के दौरान किसी के जान-माल के नुकसान की खबर नहीं है। 

ये भी पढ़ें-जानलेवा बना प्रोजेक्ट, फिर गिरा मेट्रो पिलर का हिस्सा

एक के बाद एक हो रहे हादसे 

एक के बाद एक हादसों ने निर्माणाधीन मार्ग से गुजरने वालों को दहशत में डाल दिया। इससे पहले पारडी रोड स्थित एच बी टाउन के पास मेट्रो रेल पिलर के लोहे का ढांचा गिरने से बाइक सवार बाल-बाल बचा। पिछले दिनों सेन्ट्रल एवेन्यू रोड स्थित अम्बेडकर चौंक के पास 5 टन वजनी गर्डर गिरने से दो महिलाएं जख्मी हुई थीं। जिनमें एक की हालत गंभीर थी। तो घायल अमी नामक महिला को दिमागी चोट पहुंचने के कारण वो अपनी याददाश्त खो बैठी थी।

ये भी पढ़ें-सिर पर गिरा 'मेट्रो ट्रेन' का गर्डर, याददाश्त ऐसी गई कि माता-पिता भी याद नहीं

घटना स्थल के पास बच्चों का स्कूल

इस बार जिस स्थान पर भारी भरकम पिलर गिरा, वहां जानकी टॉकीज के पास बच्चों का स्कूल भी है। सरस्वती स्कूल में छुट्टी होने के कारण बच्चे नहीं आए थे। नहीं तो ये बड़ा हादसा भी साबित हो सकता था। गुस्साए लोगों ने कहा कि वो मेट्रो का काम नहीं होने देंगे। उन्होंने अपनी सुरक्षा को लेकर चिन्ता जताई। लोगों ने कहा कि मैट्रो निर्माण के कारण हादसे हो रहे हैं, जिसे लेकर गंभीरता नहीं बरती जा रही। इसी बीच मेट्रो प्रोजेक्ट से जुड़े अधिकारी मौके पर पहुंच गए। इसके अलावा पुलिस के आला अधिकारियों ने भी लोगों को समझाने की कोशिश की। निर्माण कार्य में किसी तरह की रुकावट ना हो वहां पुलिस को तैनात कर दिया गया है।
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर