comScore
Dainik Bhaskar Hindi

महाराष्ट्र : यहां दिखी गंगा-जमुनी तहजीब, मुस्लिम युवाओं ने बैठाए गणपति बप्पा

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 13th, 2018 22:41 IST

1.2k
0
0
महाराष्ट्र : यहां दिखी गंगा-जमुनी तहजीब, मुस्लिम युवाओं ने बैठाए गणपति बप्पा

डिजिटल डेस्क, नागपुर। गणपति उत्सव की हर तरफ धूम है। गुरुवार दिनभर बप्पा के युवा भक्त उनकी सेवा में जुटे रहे। भगवान गणेश की मूर्तियां पंडालों में स्थापित की गई। युवा गाजे बाजे के साथ नाचते हुए बप्पा के रंग में लीन दिखे। इस मौके पर कमाल चौंक पर ऐसा मुस्लिम परिवार दिखा, जो बप्पा की मूर्ती लेकर जा रहा था। तस्वीर को देखते ही देश की गंगा जमुनी तहजीब झलकने लगी। इस दौरान कई लोगों ने घरघुती मूर्तियां खरीदी। बप्पा तो घर घर में विराज चुके हैं। 

बप्पा के साथ बच्चों को भी पसंद है मोदक, महिलाएं तैयार कर रही पकवान
गणपति उत्सव की तैयारी करने में हर व्यक्ति लगा हुआ है जहां युवा ने इको फ्रेंडली गणपति स्थापित किए है वहीं महिलाएं गणपति के लिए पकवान बना रही है। इस बार महिलाओं द्वारा गणपति के भोग के लिए अलग-अलग फ्लेवर्स के मोदक बनाए जा रहे है। जिस तरह बच्चों की पंसद को ध्यान में रखते हुए पकवान बनाए जाते है उसी तरह गणपति बप्पा के लिए डिफरेंट फ्लेवर्स के मोदक बनाए जा रहे है। हर कोई अपने अनुसार बप्पा को खुश कर रहा है। शहर में गणपति उत्सव में भोग के लिए पकवान बनाए जा रहे है। मोदक के अलावा लड्डू,गुजिया और अन्य पकवान भी बनाए जा रहे है। साथ ही मार्केट में खोये से लेकर बेसन, मेवा, चॉकलेट और यहां तक की बॉर्नविटा से बने मोदक भी बाजार में मौजूद हैं। बड़ों के साथ ही बच्चों को भी ध्यान में रखकर मोदक तैयार किए जा रहे हैं।

बच्चों की डिमांड बोर्नवीटा और चॉकलेट मोदक
मोनाली तिवारी के मुताबिक बच्चों की ऑल टाइम फेवरेट चॉकलेट की स्टफिंग के मोदक भी बनाए जा रहे है। साथ ही बॉर्नवीटा मोदक की भी डिमांड है। गणपति बप्पा को खुश करने के साथ ही बच्चे अपना सेजा भी कर रहे है। साथ मेरे बच्चे ने स्कूल में बैठै गणपति के लिए चॉकलेट और बॉर्नवीटा मोदक बनवाए है। फ्रेंन्ड्स को खुश करने के लिए मम्मी से स्पेशल डिमांड की जा रही है। साथ ही टीचर्स के लिए खोया और कोकोनेट के मोदक बनावाए है। बप्पा से ज्यादा बच्चो की डिमांड ज्यादा होती है। बच्चों की डिमांड पर विभिन्न फ्लेवर्स के मोदक तैयार किए है।

10 दिन अलग-अलग भोग
श्वेता नामदेव ने बताया कि गणपति बप्पा के लिए 10 दिन तक अलग-अलग भोग बनाते है। ताकि उन्हे डेली डिफरेंट व्हेरायटी खाने को मिलें। इससे फैमिली मेम्बर्स भी खुश रहते है बप्पा के साथ उन्हें भी नई नई व्हेरायटी के व्यंजन खाने को मिलते है। 10 दिन का चार्ट पहले ही प्रिपेयर कर लेती हंू। घर में सभी को नारियाल की बर्फी बहुत पसंद है। साथ ही सभी अपने फ्रेन्ड्स के लिए भी नारियल की बर्फी भी ले जाते है। वैसे भी कहते है कि प्रसाद िजतने ज्यादा लोगो को मिले अच्छा होता है इसलिए प्रसाद बनाते समय खुश होकर और दिल से बनाती हंू ताकि सभी को आनंद मिले। गणपति बप्पा का इंतजार हर वर्ष करते है। इस उत्सव में बहुत मजा आता है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर