comScore

सोनाली कुलकर्णी से लेकर गोविंदा को संवार चुके हैं शहर के मेकअप आर्टिस्ट

February 06th, 2019 16:19 IST
सोनाली कुलकर्णी से लेकर गोविंदा को संवार चुके हैं शहर के मेकअप आर्टिस्ट

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मेकअप को लेकर महिलाएं काफी संजीदा रहती हैं फिर बात फिल्मी कलाकारों की हो तो इन्हें संवारने में  मेकअप आर्टिस्टों में पुरुषों का बोलबाला  देखा जाता है। नागपुर में कई पुरुष मेकअप आर्टिस्ट हैं, जिन्होंने स्थानीय कलाकारों से लेकर बॉलीवुड के कलाकारों को संवारा है। प्रोफेशनल मेकअप मैन बनने के लिए वर्षों के अनुभव और बारीकियां सीखने की जरूरत होती है। बड़े स्तर का काम करने के लिए परफेक्शन आवश्यक है। शहर के मेकअप आर्टिस्टों से चर्चा के दौरान उन्होंने अपने अनुभव शेयर किए....

जब किया सोनाली कुलकर्णी का मेकअप

मुझे मेकअप के क्षेत्र में काम करने का मन था। सोशल मीडिया से लेकर हर जगह मेकअप की नई-नई तकनीक ट्राई करता रहता था। मुझे जब बॉलीवुड के कलाकारों का मेकअप करना का मौका तो खुशी का ठिकाना न रहा। मैं गोविंदा, सोनाली कुलकर्णी, असरानी के साथ -साथ शहर के भी कलाकारों का मेकअप कर चुका हूं। बॉलीवुड कलाकारों के मेकअप के दौरान समझ मे आया कि मेकअप में किस हद तक परफेक्शन की आवश्यकता है। मेरे हिसाब से सच्चा आर्टिस्ट वहीं है जो अपना काम पूरी ईमानदारी से करें। काम करने में कई बार गलती भी होती है लेकिन उससे सीख लेकर दोबारा उस काम ठीक से करना आर्टिस्ट की जिम्मेदारी होती है। -लालजी श्रीवास, मेकअप आर्टिस्ट

हर किसी का होता है अपना स्टाइल

अब मेकअप का ट्रेंड बहुत बदल गया है। हॉरर मेकअप में भी बहुत सारी नई तकनीकें आ गई हैं। इन सब को सीखना जरूरी है। हम मेकअप को सिर्फ लिपिस्टिक, फांउडेशन, काजल आदि चीजों तक सीमित मानते हैं। अब आर्टिफिशल मास्क और फेस के भी मेकअप किए जाते हैं। कई बार तो ये मास्क बने हुए होते हैं लेकिन कई बार फेस को बदसूरत बताने के लिए अलग तरह का मेकअप करना होता है। जिसकी ट्रेनिंग लेना आवश्यक है। मेरे साथ तो कई बार ऐसा भी हुआ है कि मैंने किसी कलाकार का मेकअप किया है और उसे  पसंद नहीं आया तो फिर दोबारा से मेकअप करना पड़ा है। इसमें पेशन्स रखना सबसे ज्यादा जरूरी है। -शैलेंद्र साहू, मेकअप आर्टिस्ट

कमेंट करें
aPKl4