comScore

मप्र: अब 36 घंटे में कभी भी क्षिप्रा में मिलाया जा सकेगा नर्मदा नदी का जल

मप्र: अब 36 घंटे में कभी भी क्षिप्रा में मिलाया जा सकेगा नर्मदा नदी का जल

डिजिटल डेस्क, भोपाल। गर्मी के मौसम में अकसर सूख जाने वाली क्षिप्रा नदी को हमेशा के लिए जीवन रेखा मिल गई है। अब जरूरत पड़ने पर कभी भी मात्र 36 घंटे में नर्मदा नदी का पानी धार्मिक नगरी उज्जनैन की क्षिप्रा नदी में मिलाया जा सकेगा।

दो साल तक चले काम के बाद इंदौर के उज्जैनी गांव तक 68 किलोमीटर लंबी पाइपलाइन जाली गई है, जिससे दोनों नदियां एक दूसरे से कनेक्ट हो गई है। इस पाइपलाइन से नर्मदा जल को क्षिप्रा में पहुंचने के लिए सिर्फ 36 घंटे का समय लगेगा। 

बता दें कि कुछ दिनों पहले क्षिप्रा नदी में जल न होने के कारण कई साधु संतों को कीचड़ में नहाना पड़ा था। इसके बाद मुख्य सचिव सुधि रंजन मोहंती ने इस मामले में संभागायुक्त और कलेक्टर को उनके पद से हटा दिया था।

मप्र के मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्देश के बाद मोहंती ने ये काम अपने हाथ में ले लिया था और नर्मदा विकास प्राधिकरण को ये टास्क सौंपा था। इस काम को पूरा कर लिया गया है, जिसके बाद नर्मदा नदी का जल उज्जैन के त्रिवेणी घाट तक पहुंच गया है। 

कमेंट करें
GTLty
कमेंट पढ़े
ROBERT N.SINGH June 16th, 2019 19:22 IST

I appreciate the commendable work done by Govt.of Madhya Pradesh that CHHIPRA RIVER will never thirst for water.Of course this hilarious work needs hats off appreciation from all corners of society.