comScore

बेहोश हो गए पीठासीन अधिकारी, गर्मी-उमस की मार से मतदान कर्मी हुए बीमार

बेहोश हो गए पीठासीन अधिकारी, गर्मी-उमस की मार से मतदान कर्मी हुए बीमार

डिजिटल डेस्क, सिंगरौली (वैढन)। सोमवार को लोकसभा चुनाव के मतदान दौरान भी पिछले दिनों की तरह 46 डिग्री सेल्सियस के तापमान वाली भीषण गर्मी का सिलसिला चलता रहा। सोमवार को बाकी दिनों के मुकाबले गर्मी के साथ उमस का असर काफी ज्यादा बना रहा। जिससे मतदान दलों के साथ मतदान कराने गए कई मतदान कर्मी गर्मी-उमस की मार को झेल नहीं पाए और बेहोश होकर गिर पड़े। बसौड़ा के एक मतदान केन्द्र के पीठासीन अधिकारी अगस्तमुनि दुबे पिता दादू राम 57 वर्ष सोमवार की सुबह करीब 7 बजे चुनाव ड्यूटी दौरान अचानक बेहोश हो गए।

यह देखकर वहां बाकी कर्मियों के होश उड़ गये, आनन-फानन में अधिकारियों ने 108 एम्बुलेंस मौके पर भेजकर उन्हें जिला अस्पताल भेजा। जहां उन्हें भर्ती कर जांच की गई, तो पता चला कि वह शुगर के मरीज हैं। जिससे कहा जा रहा है कि शुगर का मरीज वैसे भी ज्यादा देर तक भूख, प्यास बर्दाश्त नहीं कर पाता है। ऐसे में ऊपर से गर्मी की मार पड़ रही हो, तो बेहोश होना लाजमी है। वहीं बताया यह भी जाता है इलाज दौरान बीमारी पीठासीन अधिकारी ने कहा था कि मुझे पहले इलाज नहीं कुछ खाने को चाहिए। ऐसे ही चरगोड़ा में भी एक पीठासीन अधिकारी सुबह करीब 4.30 बजे गर्मी के कारण अचानक बेहोश होकर गिर पड़े थे। जिससे उन्हें चोटे भी आ गई थी और उनका इलाज कराया गया। मुख्यालय वैढन के शासकीय कन्या विद्यालय मतदान केन्द्र में तैनात मतदान कर्मी जरीना बानों को भी सुबह करीब 11.20 बजे सीने में दर्द होने की शिकायत हुई थी। जिस पर उन्हें भी 108 एमबुलेंस से अस्पताल भेजकर इलाज मुहैया कराया गया।

मतदाता और पुलिस कर्मी भी बीमार
गन्नई मतदान केन्द्र में मतदान करने पहुंचे एक युवक को भी लाइन में लगे दौरान ही चक्कर आ गया। जिससे वह वहीं पर गिर पड़ा और लोग भयभीत हो उठे। आनन-फानन में उस व्यक्ति को छाया में ले जाकर पानी छिड़का जाने लगा और इसकी सूचना कलेक्टर केवीएस चौधरी को मिली। उन्होंने सीएमएचओ डॉ. आरपी पटेल को मौके पर एम्बुलेंस भेजकर उपचार व्यवस्था मुहैया कराने का निर्देश दिया। इसके अलावा कोरसर मतदान केन्द्र में चुनाव ड्यूटी दौरान एक पुलिस कर्मी के भी बीमार होने की सूचना रही। पुलिस कर्मी का नाम सौरभ रजत बताया जाता है, जिसे उल्टी-दस्त की शिकायत थी और उसकी हालत काफी खस्ता हो गई थी। जिससे उसे नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया।
 

कमेंट करें
legC8