comScore
Election 2019

12 हजार सैलरी, सम्पत्ति निकली 80 लाख से अधिक,लोकायुक्त का छापा

12 हजार सैलरी, सम्पत्ति निकली 80 लाख से अधिक,लोकायुक्त का छापा

डिजिटल डेस्क ,अनूपपुर / कोतमा । जिले में भ्रष्टाचार के मामलों की शिकायतें बढ़ती जा रही है। 15 मई की सुबह लगभग 5.30 बजे लोकायुक्त पुलिस रीवा की 22 सदस्यीय टीम ने आदिम जाति सेवा सहकारी समिति देवगंवा के प्रबंधक विनोद तिवारी के घर पर छापामार कार्यवाही की। महज 12 हजार रुपए प्रतिमाह वेतन पाने वाला लैम्पस प्रबंधक लखपति निकला, आलीशान मकान और जेवर भी मिले। लोकायुक्त की टीम ने कोतमा  स्थित आवास के साथ ही प्रबंधक के गृह ग्राम शहडोल जिले के कुबरा में भी छापामार कार्यवाही की। सहकारी समिति प्रबंधक के विरूद्ध राजेश मिश्रा नामक शिकायतकर्ता ने आय से अधिक संपत्ति के अर्जन की शिकायत की थी। सुबह 5 बजे से प्रारंभ हुई कार्यवाही दोपहर 3 बजे तक चलती रही। इस दौरान लोकायुक्त की टीम ने लगभग  80 लाख रुपए की संपत्ति का ब्यौरा एकत्रित किया। बैंक खातों की तलाशी ली गई, अब रिश्तेदारों के नाम पर भी रुपए जमा कराए जाने की आशंका व्यक्त की जा रही है। 

10 घंटे चली जांच 
वर्ष 1992 से सहकारी समिति में कार्यरत विनोद तिवारी को प्रारंभिक दौर में बेहद ही न्यूनतम वेतन मिलता था। वर्तमान में लगभग 12 हजार रुपए वेतन मिल रहा  है। 15 मई की सुबह 5 बजे कोतमा नपा अंतर्गत वार्ड 7 एलआईसी के पीछे स्थित घर मे लोकायुक्त पुलिस ने दबिश दी,  10 घंटे तक चली कार्यवाही में ज्वेलरी, नगदी सहित मकान, जमीन एवं खातो की जॉच की गई। छापेमारी मे 1 लाख 80 हजार के गहने, तिरालिस हजार नगदी एवं जमीन तथा बैंक के खातो की जब्ती की कार्यवाही की गई। लोकायुक्त की एक अन्य 10 सदस्यीय टीम के द्वारा भी विनोद तिवारी के पैतृक गॉव कुबरा (जयसिहंनगर) मे भी छापा मारते हुये लगभग 10 लाख की सम्पत्ति की पाई गई। दोनो जगहो पर हुई कार्रवाई पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र वर्मा के नेतृत्व मे की गई जिसमे निरीक्षक अरविन्द्र तिवारी, हितेन्द्र शर्मा, अखिलेश पटेल, प्रेम सिंह, विवके पान्डे, पवन पान्डे सहित जिले का सशस्त्र बल शामिल रहा। लोकायुक्त की रेड को लेकर पूरे दिन नगर मे चर्चा बनी रही।

भ्रष्टाचार का मामला दर्ज 
टीम द्वारा की गई छापेमारी के बाद प्रबंधक विनोद तिवारी के खिलाफ  भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 13(1) (बी), 13 (2) के तहत प्रकरण पंजीबद्व किया गया। तडके 5 बजे टीम ने घर मे प्रवेश करने के बाद पूरी टीम दोपहर 3 बजे बाहर निकली। टीम ने बताया कि आरोपी के खिलाफ पिछले कुछ माह से लगातार भ्रष्टाचार से अर्जित धन कमाने की शिकायत प्राप्त हो रही थी।  

आलीशान मकान का मालिक
मामूली सी आय के बावजूद भ्रष्टचार कर आलीशान घर व संपत्ति अर्जित करने की  शिकायत के बाद मौके पर जांच करने पहुंची टीम के सदस्य निरीक्षक हितेन्द्रनाथ शर्मा ने बताया कि जांच में लगभग 6 लाख 35 हजार के घरेलू सामान, 15 लाख 55 हजार की भूमि, 30 लाख का भवन, 1 लाख की गाड़ी, 1 लाख 83 हजार की ज्वेलरी, 7 लाख का बीमा, 6 लाख लोन डिपॉजिट के साथ ही 43 हजार रुपए नकद भी मिले हैं।  दोनों ही जगहों पर की गई छापेमारी में लगभग 80 लाख की संपत्ति मिली है। 

इनका कहना है 
आय से अधिक धन अर्जित करने की शिकायत पर छापामार कार्रवाई की गई। नगदी, ज्वेलरी सहित दस्तावेजों को जब्त कर प्रकरण दर्ज किया गया। - अरविन्द्र तिवारी निरीक्षक लोकायुक्त

Loading...
कमेंट करें
EePqI
Loading...