comScore

नागपुर से हज पर जाएंगे 408 यात्री, मुंंबई में खुला महाराष्ट्र राज्य हज कमेटी का ड्रा 

January 08th, 2019 14:19 IST
नागपुर से हज पर जाएंगे 408 यात्री, मुंंबई में खुला महाराष्ट्र राज्य हज कमेटी का ड्रा 

डिजिटल डेस्क, नागपुर। महाराष्ट्र राज्य हज कमेटी की ओर से  मुंबई स्थित हज हाउस में अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री विनोद तावडे के हाथों हज का ड्रा खोला गया। महाराष्ट्र से 11 हजार 907 लोगों का चयन हज यात्रा के लिए किया गया जिसमें से 408 यात्री नागपुर जिले के शामिल हैं।  हज कमेटी ऑफ इंडिया ने इस वर्ष भारत का कोटा 1 लाख 25 हजार 25 रखा है जिसमें महाराष्ट्र की 11 हजार 907 सीटें (आरक्षित सीटों सहित) शामिल हैं। बिना मेहरम की पूरे महाराष्ट्र से 31 सीटें हैं। इस अवसर पर महाराष्ट्र राज्य हज कमेटी के सीईओ इम्तिाज काजी, मगदुम पीर, मुख्य सचिव श्याम तागडे, हज कमेटी के सदस्य इब्राहिम भाईजान, सीईओ मकसूद अहमद,  सेंट्रल तंजीम कमेटी के सचिव हाजी मो. कलाम उपस्थित थे। 

महाराष्ट्र का कोटा बढ़ा
इस वर्ष महाराष्ट्र का कोटा 11 हजार 907 रखा गया है जबकि पिछले वर्ष 11 हजार 525 सीटेंं मिली थीं। 11 हजार 907 सीटों में से 9 हजार 622 सीटें सामान्य श्रेणी की हैं और 70 वर्ष से अधिक आयु वाले यात्रियों के लिए 2254 सीटें हैं। इस वर्ष हज यात्रा के लिए पूरे महाराष्ट्र से 35 हजार 666 आवेदन प्राप्त हुए थे। विदर्भ से 1500 से अधिक लोगों का चयन किया गया है।

जिले से 1,660 आवेदन प्राप्त
नागपुर जिले से 408 यात्री हज पर जाएंगे। जिले से 1,660 आवेदन प्राप्त हुए थे। अधिक जानकारी के लिए सेंट्रल तंजीम कमेटी के अध्यक्ष हाजी अ. कदीर, उपाध्यक्ष शाहिद खान, से संपर्क किया जा सकता है। 

गडचिरोली से सिर्फ 15 यात्री
इस वर्ष विदर्भ से हज पर जाने वालों में सबसे अधिक 408 यात्री नागपुर जिले के हैं जबकि सबसे कम सिर्फ 15 यात्री गडचिरोली से जाएंगे। 

औरंगाबाद में हज हाउस का निर्माण शुरू 
महाराष्ट्र से हज यात्रा पर जाने वालों के लिए चार इंबारकेशन सेंटर हैं जिसमें मुंबई, नागपुर, औरंगाबाद और हैदराबाद शामिल हैं। औरंगाबाद में 29.88 करोड़ की लागत से हज हाउस का निर्माण कार्य चल रहा है।

बिना मेहरम की सीटों में चार गुना इजाफा
इस वर्ष बिना मेहरम की पूरे महाराष्ट्र से 31 सीटें हैं जबकि पिछले वर्ष 16 सीटें थीं। चार और पांच महिलाओं को मिलाकर 31 समूह बनाए गए हैं। नागपुर जिले से इस वर्ष बिना मेहरम की सीटों में चार गुना इजाफा हुआ है। पिछले वर्ष सिर्फ 4 सीटें थीं जो इस वर्ष बढ़कर 18 हो गई हैं।  

कमेंट करें
eMfv0