comScore
Dainik Bhaskar Hindi

ललितपुर - सिंगरौली रेल प्रोजेक्ट: सतना - पन्ना के बीच 14 किलोमीटर का फारेस्ट

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 03rd, 2018 16:25 IST

2.1k
1
0
ललितपुर - सिंगरौली रेल प्रोजेक्ट: सतना - पन्ना के बीच 14 किलोमीटर का फारेस्ट

डिजिटल डेस्क, सतना। ललितपुर - सिंगरौली रेल प्रोजेक्ट के अंतर्गत सतना और पन्ना के बीच 14 किलोमीटर पर फारेस्ट की एनओसी फिलहाल नहीं मिल पाई है। दैनिक भास्कर के सवालों के जवाब में  यहां पश्चिम मध्य रेलवे के जीएम अजय विजयवर्गीय ने बताया कि इस बाधा को जल्दी ही दूर कर लिया जाएगा। उन्होंने एक और प्रश्न के उत्तर में कहा कि खजुराहो से सतना के बीच भूमि अधिग्रहण और मुआवजा वितरण के संबंध में राज्य शासन को पत्र लिखा गया है। जमीन के बदले रेलवे में नौकरी और उम्र बंधन जैसी कोई समस्या नहीं है। श्री विजयवर्गीय ने कहा कि इस रेल परियोजना को हर हाल में वर्ष 2022 तक पूरा किए जाने का लक्ष्य है।

विद्युतीकरण अगले साल फरवरी तक
पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर जोन के जीएम ने बताया कि विद्युतीकरण के काम में तेजी लाए जाने के निर्देश दिए गए हैं। फरवरी 2019 की स्थिति में सतना-मानिकपुर और सतना -रीवा समेत कटनी-इलाहाबाद के बीच रेल विद्युतीकरण के  काम को पूरा कर लिए जाने का लक्ष्य है।

माल गोदाम का जेपी सायडिंग में जाना तय
जीएम ने बताया कि सतना जंक्शन में स्थित माल गोदाम को जेपी सायडिंग में शिफ्ट किया जाना तय है। इस शिफ्टिंग को ललितपुर-सिंगरौली रेल परियोजना के सतना-पन्ना पार्ट में शामिल करते हुए बजट का प्रावधान किया गया है। जेपी सायडिंग का भूमि अधिग्रहण किया जा चुका है। उल्लेखनीय है, सायडिंग के भावी विस्तार के लिए भी वहां रेलवे के पास जगह की कमी नहीं है। बड़ा लाभ ये भी है कि जेपी सायडिंग बायपास से भी जुड़ी हुई है।

रीवा -भोपाल के बीच एक और यात्री ट्रेन की उम्मीद
विजयवर्गीय ने रीवा-हबीबगंज के बीच रोज चलने वाली रेवांचल की 400 के पार वेटिंग से जुड़े सवाल के  उत्तर में कहा कि रीवा-भोपाल के बीच ऐसी ही एक अन्य यात्री गाड़ी पर गंभीरता पूर्वक विचार चल रहा है। उन्होंने उम्मीद जताई कि सौगात जल्दी ही मिलेगी। अभी रेवांचल के अलावा इस रुट पर हफ्ते के 2दिन एक स्पेशल ट्रेन चलती है,जो रेवांचल की वेटिंग घटा पाने की स्थिति में नहीं है। उन्होंने  आश्वस्त किया कि विद्युतीकरण के बाद कुछ नई यात्री गाडिय़ां भी मिलेंगी।

सतना को नहीं मिलेगी मेमू शेड की सौगात, बीना ने मारी बाजी
मुंबई-हावड़ा प्रमुख रेल खंड के सतना जंक्शन को फिलहाल मेमू  शेड ( इलेक्ट्रिक इंजन की रिपेयरिंग का वर्कशाप) की सौगात नहीं मिलेगी। मेमू शेड डब्ल्यूसीआर के ही बीना जंक्शन में लगाए जाने का निर्णय लिया गया है। गौरतलब है, इसी साल 17 जनवरी को नागौद में ललितपुर-सिंगरौली  न्यू ब्राडगेज परियोजना के शिलान्यास मौके पर रेल राज्यमंत्री राजेन गोहांई ने सांसद गणेश सिंह की मांग पर सतना में मेमू शेड स्थापित किए जाने का आश्वासन देते हुए प्रस्ताव मांगा था। सतना प्रवास पर आए पश्चिम मध्यरेलवे के जीएम अजय विजयवर्गीय ने एक सवाल के जवाब में स्पष्ट किया कि प्रस्तावित मेमू शेड बीना में खोला जाएगा।  मगर उन्होंने ये भी कहा कि भावी आवश्यकताओं के मद्देनजर सतना दूसरी बड़ी प्राथमिकता होगी।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें