दैनिक भास्कर हिंदी: शूलिनी यूनिवर्सिटी में शामिल हुए दिल्ली यूनिवर्सिटी के पूर्व वाइस चांसलर

May 29th, 2021

हाईलाइट

  • शूलिनी यूनिवर्सिटी में शामिल हुए दिल्ली यूनिवर्सिटी के पूर्व वाइस चांसलर

सोलन, भारत, 28 मई, 2021 /PRNewswire/ --दिल्ली यूनिवर्सिटी के पूर्व वाइस चांसलर डॉ दिनेश सिंह भारत के प्रमुख निजी यूनिवर्सिटी, शूलिनी यूनिवर्सिटी में एडजंक्ट फैकल्टी तथा इनोवेशन इन एजुकेशन सेंटर के डायरेक्टर के रूप में शामिल हुए हैं।

Shoolini_University_Logo

पद्मश्री से सम्मानित डॉक्टर दिनेश सिंह विश्व के प्रख्यात गणितज्ञ और शिक्षाविद् हैं। वह इंपीरियल कॉलेज, लंदन में एक प्रतिष्ठित फैलो तथा ह्यूस्टन विश्वविद्यालय में गणित के एडजंक्ट प्रोफेसर रहे हैं। कई पुरस्कारों और विशिष्टताओं के विजेता, डॉ दिनेश सिंह ने दिल्ली यूनिवर्सिटी में क्लस्टर इनोवेशन सेंटर स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

डॉ दिनेश सिंह द्वारा प्रस्ताव की स्वीकृति का स्वागत करते हुए, शूलिनी यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रो. अतुल खोसला ने कहा कि यूनिवर्सिटी को ऐसे प्रतिष्ठित शिक्षाविद के साथ जुडऩे के लिए उन्हें सम्मानित किया गया है। उन्होंने कहा कि डॉ.  दिनेश सिंह के अनुभव और ज्ञान से छात्रों और शोधकर्ताओं को बहुत लाभ प्राप्त होगा।

प्रो. खोसला ने कहा कि डॉ सिंह गणित और डेटा साईंस के निर्माण के साथ-साथ शूलिनी के शिक्षकों और छात्रों के लिए प्रमुख परियोजनाओं के निर्माण के हमारे प्रयासों का नेतृत्व करेंगे।

डॉ सिंह ने अपने स्वीकृति पत्र में कहा कि उन्हें शूलिनी यूनिवर्सिटी से जुडक़र बेहद खुशी है, जो पहले से ही अपने लिए एक नाम बना चुका है और रिसर्च और इनोवेशन के विभिन्न मानकों में वे वैश्विक यूनिवर्सिटीस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रहा है।

डॉ दिनेश, जो पिछले साल दिल्ली यूनिवर्सिटी से सेवानिवृत्त हुए, एक प्रतिष्ठित एकेडेमिक लीडर, एक इनोवेटर, विचारक और नीति निर्माता हैं। एक शिक्षाविद् और गणितज्ञ के रूप में उनके काम के लिए उन्हें कई देशों से डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया है। उन्होंने कॉमनवेल्थ यूनिवर्सिटीज, लंदन के बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज एसोसिएशन में भी काम किया है। वे भारत सरकार के स्टेरिंग कमेटी ऑफ प्लेनिंग कमिशन के सदस्य रहे हैं।

Shoolini University के बारे में:

2009 में स्थापित Shoolini University एक अनुसंधान प्रेरित निजी विश्वविद्यालय है जिसे UGC से पूरी मान्यता प्राप्त है। एक अलाभकारी संगठन के रूप में भारत का यह अग्रणी विश्वविद्यालय, नवप्रवर्तन पर फोकस, गुणवत्तापरक नियोजन और विश्वस्तरीय फैकल्टी की वजह से जाना जाता है। हिमालय के निचले क्षेत्र में स्थित इस विश्वविद्यालय ने NAAC से मान्यता प्राप्त की है और इसे NIRF द्वारा रैंक दी गई है।

अधिक जानकारी के लिए, कृपया देखें: https://shooliniuniversity.com/ 

Logo: https://mma.prnewswire.com/media/792680/Shoolini_University_Logo.jpg

खबरें और भी हैं...