दैनिक भास्कर हिंदी: Vision Mechatronics भारत की पहली विशाल मेगा वाट स्तर की हाइब्रिड ऊर्जा भंडारण परियोजना प्रदान करता है

July 23rd, 2021

हाईलाइट

  • Vision Mechatronics भारत की पहली विशाल मेगा वाट स्तर की हाइब्रिड ऊर्जा भंडारण परियोजना प्रदान करता है

यह हाइब्रिड ऊर्जा भंडारण परियोजना में लंबे समय के आर्थिक बैकअप को प्राप्त करने के लिए 'दुनिया की सबसे स्मार्ट लिथियम बैटरी' के साथ ट्यूबलर जेल बैटरियों (लैड एसिड का एक प्रकार) का समन्वय है।

गुड़गाँव, भारत, 22 जुलाई, 2021 /PRNewswire/ -- ऊर्जा भंडारण उद्योग के एक अग्रणी नाम Vision Mechatronics ने ओम शांति रिट्रीट सेंटर में हमेशा बिजली बनाए रखने के लिए ब्रह्मकुमारियों को एक समाधान प्रदान किया है। Retreat Centre ने ग्रिड के असफल होने पर बिजली की लगातार आपूर्ति को सुनिश्चित करने के लिए लंबे समय तक चलने वाले बैकअप को पाने के लिए मेगा वाट स्तर की हाइब्रिड बैटरी भंडारण प्रणाली के एक सौर – आधारित अनोखे समन्वय यानि लिथियम-लेड हाइब्रिड जिसमें नई लिथियम बैटरियों के साथ पुरानी बैटरियों का उपयोग किया गया है। 



'भारत की बैटरीवाली' के नाम से प्रसिद्ध Vision Mechatronics की प्रबंध निर्देशक Dr. Rashi Gupta ने आगे बताते हुए कहा, "हमारे सभी उत्पादों का विकास और निर्माण भारत में ही किया जाता है। हाइब्रिड बैटरी ऊर्जा भंडारण प्रणाली के उपयोग से नए संसाधनों को जोड़ने के समय उपलब्ध संसाधनों का पूरा उपयोग हो रहा है जिसकी वजह से बिजली उत्पादन की कीमत ग्रिड समान है। हाइब्रिड ऊर्जा भंडारण मॉडल को चुनने से व्यापारिक संस्थाओं को लंबे समय तक चलने वाली इस ऊर्जा भंडारण परियोजना में अपने प्रारम्भिक पूंजीगत निवेश को 35 से 40% तक कम कर देने में सहायता मिल सकती है।  ACC बैटरी योजना की हाल ही में की गई शुरुआत के साथ, भारत ऊर्जा भंडारण और ई-मोबिलिटी बाज़ार के लिए एक बड़ा अवसर प्रदान करता है और भारत को वास्तव में आत्मानिर्भर बनाने में यह हमारा एक योगदान है।"



अक्सर सुदूर क्षेत्रों में कमज़ोर ग्रिड उनसे जुड़े भार को संभाल नहीं पाती और उन पर ज़्यादा भार पड़ जाता है। ऊर्जा भंडारण के साथ सौर ऊर्जा को एकीकृत करने से, एक माइक्रोग्रिड बनता है जो पारंपरिक ग्रिड का समर्थन तो करता ही है, साथ ही ग्रिड की अनुपस्थिति में भी बिजली की आपूर्ति कर सकता है। लिथियम-आधारित ऊर्जा भंडारण सामान्यतः केवल 4 घंटे तक आर्थिक रूप से व्यवहार्य है, इसलिए 8 से 18 घंटे के लिए आर्थिक रूप से व्यवहार्य रेहने वाला समाधान होना महत्वपूर्ण था और इसे हाइब्रिड ऊर्जा भंडारण द्वारा प्राप्त किया जा सकता था जो कि टेब्युलर जेल बैटरियों (लेड एसिड के एक प्रकार) के साथ 'दुनिया की सबसे स्मार्ट लिथियम बैटरी' का एक संयोजन का है।  यह माइक्रोग्रिड बैकअप, आवृत्ति नियमन, ग्रिड फीड, वोल्टेज नियमन, ब्लैक स्टार्ट, बिना रोक बिजली के आवागमन, डीज़ल जनरेटर प्रतिस्थापन आदि कार्यों को प्रभावी ढंग से करता है।  सुचारू और विश्वसनीय रूप से काम को सुनिश्चित करने के लिए सिस्टम में पहले से दोषों का पता लगाने के लिए प्रीवेंटिव और प्रीडिक्टिव मॉनिटरिंग व्यवस्था भी है। इस प्रकार, सौर पैनलों के माध्यम से सूर्य से उत्पन्न इस शक्ति का बैटरी में संग्रह किया जा सकता है, जिसका उपयोग किसी भी उद्देश्य के लिए किया जा सकता है जैसे हैवी-ड्यूटी स्टूडियो, बिजली की आयरन, इंडक्शन कुकटॉप, कंप्यूटर, वाशिंग मशीन, सामुदायिक रसोई उपकरण, बेकिंग ओवन, एयर कंडीशनर, सबमर्सिबल पानी के पंप आदि चलाने और निश्चित रूप से रोशनी और पंखे चलाने में किया जा सकता है।  किसी भी परिसर के लिए यहएक साफ़ और हरित ऊर्जा है।



Om Shanti Retreat Centre की निदेशक, सिस्टर BK Asha ने कहा, "यह महत्वपूर्ण परियोजना परिसर में उत्कृष्टता लाएगी और हमें समाज को व्यापक रूप से और बिना बाधा के सेवाएं प्रदान करने में सक्षम बनाएगी। जिस तरह परमात्मा ज्ञान का सूर्य है और अपने सभी बच्चों को असीमित ज्ञान, पवित्रता, शांति और ख़ुशी प्रदान करता है, उसी तरह सूर्य भी मानव जाति और इस ग्रह के लिए असीमित प्रकाश और ऊर्जा का स्रोत है। ऊर्जा पाने के लिए मूल स्रोत पर वापस लौटना हमेशा फायदेमंद है, चाहे वह आध्यात्मिक ऊर्जा हो या सौर ऊर्जा। इस प्रकार, इस परियोजना ने हम सभी में नई आस जगाई है कि हम शांतिपूर्वक और प्रकृति के साथ एक स्थायी तरीके से समरसता में रह सकते हैं।"



हरियाणा में भारत की पहली मेगा वाट स्तरीय हाइब्रिड ऊर्जा भंडारण परियोजना का अनावरण  BK Brother CA Brij Mohan, अतिरिक्त महासचिव ने वरिष्ठ राजयोगियों BK Sister Asha - निर्देशक - ओआरसी, BK Sister Shukla - निर्देशक ओआरसी, BK Sister Pushpa - निर्देशक ब्रह्मकुमारी पांडव भवन दिल्ली,  BK Sister Neelu, BK Brother बनारसी - ब्रह्मा कुमारी माउंट आबू, – निर्देशक ओआरसी,  BK Sister Chakradhari – निर्देशक ब्रह्मा कुमारी रूस, Mr. K. S. Popli- Consultant to International Solar Alliance, Dr. Rashi Gupta - प्रबंध निर्देशक, Vision Mechatronics Private Limited,  BK Brother T K Singh - निर्देशक,  Electromech Controls (EMC) की उपस्थिति में किया।



Mr. Tobias Winter - Indo-German Energy Forum के निदेशक SO – Deutsche Gesellschaft für Internationale Zusammenarbeit (GIZ) GmbH, Mr. Subhramanium Pulipaka - CEO NSEFI, Mr. Reji Pillai - अध्यक्ष - India Smart Grid Forum ने भी इस जगह का दौरा किया।



Vision Mechatronics के बारे में:

Vision Mechatronics  Dr. Rashi Gupta जिन्हें 'भारत की बैटरीवाली' के रूप में जाना जाता है, का एक उद्यमशील उपक्रम है, जो "दुनिया की सबसे स्मार्ट लिथियम बैटरी" के साथ भारत में उन्नत लिथियम बैटरी के निर्माण में अग्रणी  है।  Dr. Rashi, "Vision Mechatronics Private Limited" की संस्थापक और प्रबंध निर्देशक हैं, जो इसे रोबोटिक्स, नवीकरणीय ऊर्जा और ऊर्जा भंडारण के क्षेत्र में एक सफल नाम करने की दिशा में प्रयत्नशील हैं। इन्हें "2020 में नवीकरणीय ऊर्जा में एशिया की सबसे प्रभावशाली महिला" के रूप  में सम्मानित भी किया गया है। Vision Mechatronics , लैंगिक समानता (एसडीजी5), सस्ती और स्वच्छ ऊर्जा (एसडीजी7) जैसे एसडीजी पर व्यापक रूप से काम करने के लिए यूएनडीपी लक्ष्यों के साथ संरेखित रहकर काम करते है। ऐसा करते हुए उन्होंने संगठन के भीतर समान लिंग प्रतिनिधित्व बनाए रखा है और साथ ही साथ वे आर्थिक रूप से वंचित बच्चों के जीवन में रोशनी लाने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में  विद्युतीकरण पर भी काम करते हैं।  Vision Mechatronics प्रौद्योगिकी द्वारा संचालित है और ऊर्जा भंडारण के क्षेत्र में नवाचार के सशक्त प्रयास की ओर अग्रसर है। इनके पास ईवी तथा स्थायी ऊर्जा भंडारण अनुप्रयोगों के लिए 90MWh तक के समाधान हैं।  इसका मिशन,ऊर्जा के ऐसे समाधान प्रदान करना है जो न केवल काम करें बल्कि जिनके लिए न्यूनतम रखरखाव की आवश्यकता हो, ताकि उपयोगकर्ता लंबे समय तक निश्चिंत रहे।

वेबसाइट: https://vmechatronics.com

ORC के बारे में

Prajapita Brahma Kumaris Ishwariya Vishwa Vidyalaya (1936 में स्थापना) एक सामाजिक-आध्यात्मिक संस्थान है, जो 137 देशों में अपने केंद्रों के माध्यम से समाज के नैतिक कायाकल्प के लिए आध्यात्मिक सशक्तिकरण के क्षेत्र में काम कर रहा है।  यह आयुष मंत्रालय, भारत सरकार की योग विशेषज्ञ समिति का सदस्य होने के साथ साथ अंतर-मंत्रालयी समिति का सदस्य भी है।

संस्थान ने उत्तर भारत में Om Shanti Retreat Centre (ORC) के रूप में एक प्रशिक्षण और आश्रय केंद्र स्थापित किया है, जिसका उद्घाटन 2003 में भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति माननीय Dr. APJ Abdul Kalam ने किया था। यह हरियाणा के गुरुग्राम जिले में शांतिपूर्ण, वनीय ग्रामीण वातावरण से घिरा हुआ 28 एकड़ में फैला एक विशाल परिसर है, जिसमें अति-आधुनिक सुविधाएं हैं जो सीखने और विकास के लिए अत्यधिक अनुकूल हैं। ORC मानव मूल्यों में शिक्षा के लिए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय का एक मान्यता प्राप्त क्षेत्रीय संसाधन केंद्र है और उत्तरी भारत की ब्रह्मा कुमारियों का सबसे बड़ा शिक्षण और प्रशिक्षण केंद्र है।

वेबसाइट: https://omshantiretreat.org

 

 

खबरें और भी हैं...