comScore

चैंपियंस ट्रॉफी 2018 : सिल्वर मेडल जीतकर लौटी हॉकी टीम का गर्मजोशी से स्वागत

August 30th, 2018 17:40 IST

हाईलाइट

  • चैंपियंस ट्रॉफी 2018 के उपविजेता भारतीय हॉकी टीम नीदरलैंड्स से स्वदेश पहुंच चुकी है।
  • इस चैंपियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम के नाम रजत पदक रहा।
  • यह दूसरी बार है जब हॉकी टीम ने रजत पदक हासिल किया है।

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरु । चैंपियंस ट्रॉफी 2018 के उपविजेता भारतीय हॉकी टीम नीदरलैंड्स से स्वदेश पहुंच चुकी है। मंगलवार को बेंगलुरु एयरपोर्ट पर भारतीय हॉकी का गर्मजोशी से स्वागत किया गया। इस चैंपियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम के नाम रजत पदक रहा। यह दूसरी बार है जब हॉकी टीम ने रजत पदक हासिल किया है।

कप्तान पीआर श्रीजेश ने मीडिया से रूबरू होते हुए बताया कि हम लोग काफी निराश है, हमने कड़ी मेहनत की लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ स्वर्ण पदक हासिल करने से कमयाब नहीं हो सके। पिछले बार की तरह इस बार भी हमें सिल्वर मेडल मिला है। हमें लोगों को जो सपोर्ट मिल रहा है। ये हमारा उत्साह और बढ़ाता है। हम आगामी एशियाई खेलों और विश्व कप में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की उम्मीद कर रहे हैं।

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 8 बार की चैंपियन और मेजबान नीदरलैंड्स को शनिवार को 1-1 से ड्रॉ पर रोक कर चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में प्रवेश किया था। जिसके बाद चैंपियंस ट्रॉफी के चौथे क्वार्टर में भारत का सामनाऑस्ट्रेलिया से हुआ। इस मैच में खेल समाप्त होने तक ऑस्ट्रेलिया और भारत दोनों टीमें 1-1 से बराबरी पर रहीं। जिसके बाद मैच का फैसला पेनल्टी शूटआउट से हुआ। शूटआउट में भारत के लिए सिर्फ मनप्रीत सिंह ही गोल कर सके। 

शूटआउट में ऑस्ट्रेलिया के गोलकीपर टायलर लोवेल तीन बचाव कर मैच के हीरो बने। उन्होंने सरदार सिंह, हरमनप्रीत सिंह और ललित उपाध्याय को गोल नहीं करने दिया। इस दौरान ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 3-1 से हराया। ऑस्ट्रेलिया का यह15वां चैंपियंस ट्रॉफी खिताब है। ऑस्‍ट्रेलिया के आरन जेलेवस्‍की और डेनियल बेल ने पेनल्टी में 2-0 की बढ़त दिलाई। इसके बाद भारतीय गोलकीपर श्रीजेश ने मैथ्यू स्वान और टाम क्रैग के प्रयास को विफल कर दिया, लेकिन ग्रैम एडवार्डस ने गोल कर ऑस्ट्रेलिया को 3-1 से जीत दिला दी। हालांकि भारत का हॉकी चैंपियंस ट्रॉफी खिताब जीतने का सपना पूरा नहीं हो सका। 

कमेंट करें
0zvWO