दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर में 9 लाख 76930 डोज में 10 लाख 8 हजार लोगों को लगी वैक्सीन

July 14th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोविड वैक्सीनेशन की कमी के बीच एक सकारात्मक खबर है। मनपा काे जितने डोज उपलब्ध कराए गए, उससे अधिक लोगों को वैक्सीन लगाई गई। मनपा स्वास्थ्य विभाग के सटीक नियोजन से यह संभव हो पाया है।  उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार 16 जनवरी से अब तक मनपा को 9 लाख, 76 हजार 930 डोज उपलब्ध हुए, जबकि 10 लाख 8 हजार लोगों का वैक्सीनेशन किया गया। यानी 31 हजार 70 लोगों का अतिरिक्त वैक्सीनेशन किया गया। 

ऐसे रोकी वैक्सीन की बर्बादी
कोविशील्ड के एक वायल 10 डोज की है। वायल में 5.5 एमएल वैक्सीन रहती है। 10 लोगों का वैक्सीनेशन करने के बाद जो दवा बच जाती है, उसे फेंक दिया जाता है। व्यर्थ जाने वाली वैक्सीन का उपयोग कर एक वायल के 11 डोज बनाए गए। मनपा के स्वास्थ्य विभाग ने वैक्सीनेशन करने वाले कर्मचारियों को विशेष प्रशिक्षण कर यह कर दिखाया। 

प्रतिदिन 40 हजार की क्षमता
मनपा स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि प्रतिदिन 40 हजार लोगों का वैक्सीनेशन करने की विभाग की क्षमता है। शहर में 150 वैक्सीनेशन सेंटर कार्यान्वित किए गए हैं। पर्याप्त वैक्सीन उपलब्ध नहीं होने के कारण टार्गेट पर नहीं पहुंच पा रहे हैं।

सेंटर से हुई थी शुरुआत
शहर में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई। पहले सिर्फ 3 सेंटर पर वैक्सीनेशन सुविधा उपलब्ध थी। नागरिकों का प्रतिसाद बढ़ने पर धीरे-धीरे वैक्सीनेशन सेंटर बढ़ाए गए। आज की तारीख में शहर में 150 सेंटर पर वैक्सीनेशन किया जा रहा है।

शुरुआती दौर में चंद डोज खराब हुए
कोविशील्ड के एक वायल में 10 डोज आते हैं। वायल फोड़ने के बाद संपूर्ण डोज उपयोग में लाना जरूरी है। जो डोज बच जाता है, उसे फेंक देना पड़ता है। वैक्सीन की बर्बादी रोकने के लिए एक साथ 10 लोगों को वैक्सीनेशन कक्ष में लिया जाता है। अंत में एक साथ 10 लोग उपलब्ध नहीं होने पर जो डोज बच जाता है, वह व्यर्थ हो जाता है। शुरुआती दौर में एक साथ 10 लोग उपलब्ध नहीं होने पर कुछ डोज बर्बाद हुए।  730 डोज खराब होने की जानकारी है।

आज मिलेगी सभी केंद्रों पर वैक्सीन
 शासन की ओर से महानगरपालिका को कोविशील्ड वैक्सीन की मर्यादित आपूर्ति को देखते हुए बुधवार को टीकाकरण किया गया। बुधवार को 18 वर्ष से ऊपर के सभी नागरिकों को टीका दिया जाएगा। यह जानकारी अतिरिक्त आयुक्त राम जोशी ने दी। इसके साथ ही 18 वर्ष और 45 वर्ष के सभी नागरिकों को कोवैक्सीन का पहला व दूसरा डोज शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय (मेडिकल कॉलेज), डॉ. बाबासाहब आंबेडकर अस्पताल और  स्व. प्रभाकर दटके मनपा महाल रोग निदान केंद्र में लगाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...