दैनिक भास्कर हिंदी: कोटा से 176 स्टूडेंट्स की विदर्भ में वापसी, नागपुर पहुंचे 44

May 2nd, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  कोटा में फंसे विद्यार्थियों को एस टी बसों से नागपुर लाया गया है। जिसमें कुल 176 विद्यार्थी विदर्भ के हैं। इसमें नागपुर जिले के 44 विद्यार्थी शामिल हैं। जिन्हें दो बसों की मदद से लाया गया । सभी को सोशल डीस्टेंन्सिंग को मेंटेन रखते हुए लाया गया । धुलिया विभाग से सभी बसें चलाई गई थी। दोपहर 3 बजे तक  9 बसें नागपुर पहुंची थी। यहां 2 बसें खाली होकर धुलिया रवाना हुई ।  अन्य 7 बसों को विद्यार्थियों के साथ चंद्रपुर, वर्धा, गड़चिरोली, भंडारा, गोंदिया भेजा गया।

कोरोना के कारण जनजीवन पूरी तरह से ठप सा हो गया है। लॉकडाउन ने हर किसी के पैर बांधकर रख दिये हैं। 22 मार्च के बाद हुए ऐलान के बाद मजदुरों से लेकर विद्यार्थी अपने शहर व राज्य से बाहर फंसकर रह गये । जिन्हें अपने घर आना भी संभव नहीं हो रहा था।  राजस्थान का कोटा एजुकेशन हब माना जाता है। जहां 6-6 माह के शैक्षिणिक कोर्स के लिए महाराष्ट्र से बड़ी संख्या में छात्र जाते हैं। बताया गया कि, लॉकडाउन के कारण यहां बड़ी संख्या में छात्र फंसे थे। जिन्हें सरकार द्वारा वापस लाने के लिए राज्य मार्ग परिवहन महामंडल की बसों का सहारा लिया गया। धुलिया से कोटा की दूरी कम होने से सभी बसों को धुलिया से चलाया गया। कुल 78 बसों को चलाया गया था। जिसमें विदर्भ में आने वाली 9 बसें थी। शुक्रवार की दोपहर 2 से 4 बजे के बीच में विद्यार्थियों से भरी यह बसें बैतूल मार्ग से होते हुए गणेशपेठ बस स्टैण्ड पर पहुंची। जिसकी 2 बसें नागपुर में ही खाली की गई। इसमें 44 छात्र को अपने घर शासकीय नियमानुसार भेजा गया।   बाकी 7 बसों में शामिल एक सौ से ज्यादा विद्यार्थियों को विभिन्न दिशा में भेजा गया। जिसमें चंद्रपुर के लिए 3 बसें, वर्धा के लिए 1 बस, गड़चिरोली के लिए 1 बस, भंडारा के लिए 1 बस,  गोंदिया के लिए 1 बस भेजी गई है।
 

खबरें और भी हैं...