दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर मनपा के 2 नए अस्पताल तैयार, 3 की क्षमता बढ़ी

June 19th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोरोना संक्रमण के चलते लागू लॉकडाउन में महानगरपालिका सभी सुविधाओं से लैस 2 नए अस्पताल स्थापित कर 3 अस्पतालों में बेड क्षमता बढ़ा दी है। नागपुरवासियों के लिए अत्याधुनिक सुविधायुक्त 450 बेड क्षमता के 5 अस्पताल उपलब्ध कराए गए हैं। 300 बेड की सुविधा उपलब्ध हो चुकी है। शेष 150 बेड की सुविधा सप्ताहभर में करने का मनपा प्रशासन ने दावा किया है।

निजी अस्पतालों को देंगे टक्कर
मनपा आयुक्त तुकाराम मुंढे ने काेरोना कंट्रोल रूम में मनपा के अत्याधुनिक सुविधायुक्त अस्पताल खोलने की घोषणा की थी। घोषणा के बाद 45 दिन में इसे पूरा किया है। इंदिरा गांधी अस्पताल गांधी नगर, आइसोलेशन अस्पताल इमामवाड़ा, पांचपावली स्त्री अस्पताल का कायापटल कर इनका नक्शा बदल दिया गया है। ये निजी तथा कार्पोरेट अस्पतालों को टक्कर देंगे।

एसडीआरएफ निधि से खर्च 
मनपा के अस्पतालों में अत्याधुनिक सुविधा उपलब्ध कराने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने उपलब्ध कराए एसडीआरएफ से निधि खर्च की गई है। इसके अतिरिक्त डीपीसी और मनपा की निधि से भी खर्च किया गया है। 

मिलेगी बेहतर सुविधा
आइसोलेशन अस्पताल में पहले 20 बेड थे। इसे बढ़ाकर 32 बेड किया गया है। भविष्य में इसे 60 बेड का अस्पताल बनाने की योजना है। पहले के मुकाबले बेहतर सुविधा उपलब्ध कराई गई है।

सूतिकागृह बना स्त्री अस्पताल
पांचपावली सूतिकागृह अब स्त्री अस्पताल बन गया है। यहां 20 बेड से बढ़ाकर 110 बेड की सुविधा कराई गई है। शहर की महिलाओं के लिए यह एक वरदान साबित होने का मनपा को विश्वास है।

केटी नगर और आयुष अस्पताल
लॉकडाउन कालावधि में मनपा ने शहर को दो नए अस्पताल की सौगात दी है। एक केटी नगर और दूसरा आयुष अस्पताल सदर की स्थापना की गई। केटी नगर अस्पताल 120 बेड और आयुष अस्पताल सदर में 30 बेड की क्षमता है। 

इंदिरा गांधी अस्पताल में 130 बेड
इंदिरा नगर के इंदिरा गांधी अस्पताल में 30 बेड की क्षमता थी। इसे बढ़ाकर 130 बेड कर दिया गया है। आईसीयू और आॅक्सीजन की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। तल माले के साथ 3 माले का यह अस्पताल कई वर्ष से उपेक्षित था, लेकिन अब  इसका पूरी तरह कायापलट किया गया है।