केंद्र सरकार को भिजवायी जानकारी: यूक्रेन में फंसे अमरावती संभाग के 21 विद्यार्थी   

February 26th, 2022

डिजिटल डेस्क,अमरावती। रूस और यूक्रेन के बीच दो दिन पूर्व शुरू हुए युद्ध का असर अमरावती शहर सहित संपूर्ण संभाग से यूक्रेन में शिक्षा प्राप्त कर रहे कुल 21 छात्रों पर भी दिखाई दे रहा है। यूक्रेन के अलग-अलग शहरों में रूस द्वारा की जा रही बमबारी के बीच इन छात्रों की सुरक्षा का मुद्दा गंभीर हो चुका है। शुक्रवार को अमरावती जिलाधीश कार्यालय के साथ संभागीय आयुक्त कार्यालय की ओर से राज्य सरकार को कुल 21 छात्रों के नाम की सूची राज्य सरकार को सौंपी गई है। राज्य सरकार द्वारा यह सूची केंद्र सरकार को भेजी जानी है। जिला आपदा प्रबंधन कक्ष से मिली जानकारी के अनुसार इन 21 छात्रों में अमरावती के 8, अकोला के 4, यवतमाल के 3, बुलढाणा के 5 व वाशिम के 1 छात्र का समावेश है।

जिलाधीश कार्यालय की ओर से सौंपी गई सूची के अनुसार अमरावती शहर के निवासी अभिषेक ऋषिकेश बारब्दे, प्रणव विनोद फुसे, साहिल प्रसेनजीत तेलंग, तुषार अशोक दंदे, तनिष्क श्याम सावंत, स्वराज गणेश पंडू, प्रणव मोहन भारसाकले, वृषभ वैभव गजभिये का समावेश है। विद्यार्थी प्रणव मोहन भारसाकले ने बताया कि, जोपोरिकसा में जहां हम ठहरें हैं, हमारे साथ फिलिपिंन्स, आस्ट्रिया सहित अन्य स्थानों के विद्यार्थी भी हैं। सभी अपने-अपने परिवारों से संपर्क कर रहे हैं। दूतावास के अधिकारियों से भी बात की गई है। जल्द ही यहां से निकाले जाने का आश्वासन दिया गया है। जबकि यवतमाल के छात्रों में संकेत राजेश चव्हाण, अभिनव राम काले, गौरव राठोड़ के फंसे होने की जानकारी आई है। इन छात्रों को अमरावती वापस लाए जाने के लिए जिला प्रशासन की ओर से केंद्रीय आपदा प्रबंधन विभाग को  सूचना देकर मदद मांगी गई है। जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार द्वारा जो विमान यूक्रेन रवाना किए गए हैं। उनमें अमरावती के छात्रों को फिलहाल स्वदेश लौटने का मौका नहीं मिलेगा। अगली खेप में इन विद्यार्थियों के लौटने की संभावना व्यक्त की गई है।

सभी विद्यार्थी सुरक्षित
अमरावती सहित संभाग के जो छात्र यूक्रेन के अलग-अलग शहरों में फंसे हुए हैं, उनसे आपदा प्रबंधन कक्ष की ओर से फोन के माध्यम से बात की गई है। सभी छात्र सुरक्षित हैं। इन छात्रों को निरंतर भारतीय दूतावास से संपर्क में रहने की सूचना दी गई है।  -आशीष बिजवल, निवासी उपजिलाधीश

छात्रों की सुरक्षा सरकार का दायित्व
अमरावती के जो भी छात्र यूक्रेन में फंसे हैं, उनकी सुरक्षा राज्य सरकार का दायित्व है। सरकार द्वारा सभी प्रयास किए जा रहे हैं। केंद्र सरकार को विद्यार्थियों से जुड़ी सूचनाएं उपलब्ध कराई गई है। यूक्रेन स्थित भारतीय दूतावास से भी संपर्क किया गया है।  -एड. यशोमति ठाकुर, पालकमंत्री