मिली हरी झंडी: मनपा के 23 अस्पताल एनयूएचएम में होंगे शामिल

October 12th, 2021

डिजिटल डेस्क,नागपुर। नागपुर महानगरपालिका द्वारा नागरिकों को स्वास्थ्य की अच्छी सुविधा देने के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। इन प्रयासों को सार्थक करने के लिए शहर के 23 अस्पताल राष्ट्रीय नागरी स्वास्थ्य अभियान योजना (एनयूएचएम) में शामिल करने के लिए वैद्यकीय सेवा व स्वास्थ्य विशेष समिति सभापति महेश महाजन ने मंजूरी प्रदान की है। सोमवार को मनपा के स्थायी समिति सभागृह में इस संबंध में बैठक हुई। इस अवसर पर समिति के उपसभापति विक्रम ग्वालवंशी, सदस्य विद्या कन्हेरे, भावना लोणारे, सदस्य नागेश मानकर ऑनलाइन बठक में जुड़े थे। मनपा वैद्यकीय स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संजय चिलकर, अतिरिक्त सहायक वैद्यकीय स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विजय जोशी उपस्थित थे।  

रोज 80 मरीजों की हो रही जांच
डॉ. संजय चिलकर ने बताया कि मनपा में राष्ट्रीय नागरी स्वास्थ्य अभियान योजना वर्ष 2014-15 से शुरू की गई है। इस समय 129 यूपीएचसी कार्यान्वित है। 2021-22 के लिए कुल 51 यूपीएचसी को मंजूरी दी गई है। उन्होंने बताया कि मनपा अंतर्गत कार्यान्वित 23 अस्पतालों में से 14 अस्पताल नागरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के रूप में रुपांतरित करने हैं। इन केंद्रों के लिए 51 मानव बल की मंजूरी मिली है। इसके लिए सुबह 8 से शाम 4 बजे तक समय रहेगा। पूर्णकालीक एमबीबीएस वैद्यकीय अधिकारी कार्यरत रहेंगे। इंदिरा गांधी रुग्णालय और पांचपावली सूतिकागृह में नि:शुल्क नॉर्मल और सिजेरियन डिलीवरी की जाती है। इस अस्पताल में 24 घंटे एक डॉक्टर उपलब्ध रहेगा, जिस कारण अब ओपीडी में रोजाना 70 से 80 मरीजों की जांच की जा रही है।

अनुपस्थित डॉक्टरों पर कार्रवाई करें : महाजन
समिति सभापति संजय महाजन ने निर्देश देते हुए कहा कि जो डॉक्टर अपनी जिम्मेदारी योग्य ढंग से पूरी नहीं कर रहे हैं या हर समय अनुपस्थित रहते हैं, ऐसे डॉक्टरों पर कार्रवाई की जाए। मनपा के कुछ अस्पतालों में समय के पहले ही ओपीडी बंद करने की शिकायतें हैं। इन अस्पतालों में समय का पालन किया जाए।

 

खबरें और भी हैं...