comScore

राज्य में अगले साल तक 3 हजार एसटी बसों को ट्रक बनाया जाएगा

राज्य में अगले साल तक 3 हजार एसटी बसों को ट्रक बनाया जाएगा

डिजिटल डेस्क, नागपुर। यात्री सेवा बंद रहने से अब एसटी बसों का उपयोग मालढुलाई में किया जा रहा है। बसों को हल्का मॉडिफाई कर इसे ट्रक की शक्ल दी जा रही है। व्यापारियों को कम दाम पर ट्रांसपोर्टेशन की सुविधा दी जा रही है। प्रशासन धीरे-धीरे इनकी संख्या बढ़ाते जा रहा है। अगले साल तक पूरे राज्य में एसटी के 3 हजार ट्रक दौड़ लगाएंगे। वर्तमान स्थिति में नागपुर विभाग की बात करें, तो 16 ट्रक मालढुलाई का काम कर रहे हैं। अगले महीने तक इनकी संख्या पूरी 20 हो जाएगी।  वर्तमान स्थिति में नागपुर विभाग के अंतर्गत पुराने 3 और नए 13 कुल 16 ट्रकों को चलाया जा रहा है। अगले माह तक 4 नए ट्रक बनकर तैयार हो जाएंगे। जिसके बाद 20 ट्रकों की मदद से एसटी मालढुलाई करेगी। इससे एक ओर महामंडल का राजस्व बढ़ेगा, दूसरी ओर खाली बैठे कर्मचारियों को काम मिलेगा 

3 हजार ट्रक का लक्ष्य
पूरे राज्य में 31 विभाग हैं, ऐसे में सभी विभाग में एसटी ट्रकों को मालढुलाई के लिए चलाया जाएगा। महामंडल ने अगले साल तक 3 हजार ट्रक बनाने का लक्ष्य सामने रखा है। नागपुर विभाग अंतर्गत 100 ट्रक चलाए जाएंगे।  - एन. बेलसरे, विभाग नियंत्रक, एसटी महामंडल नागपुर
 

कमेंट करें
RNjGa