दैनिक भास्कर हिंदी: तीसरी लहर के लिए 30 ऑक्सीजन वॉक इन सेंटर शुरू होंगे : पालकमंत्री

June 29th, 2021

डिजिटल डेस्क,नागपुर। कोविड को मात देने के लिए टीकाकरण की गति बढ़ाना आवश्यक है, इसके साथ ही ऑक्सीजन बेड बढ़ाने और ग्रामीण सहित शहरी क्षेत्र के सभी अस्पतालों में पूर्ण तैयारी करने के निर्देश पालकमंत्री डॉ. नितीन राऊत ने विभागीय आयुक्त कार्यालय में हुई बैठक में दिए। इस दौरान विभागीय आयुक्त प्राजक्ता लवंगारे-वर्मा, पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार,  जिलाधिकारी रवींद्र ठाकरे, मनपा आयुक्त राधाकृष्णन बी., मुख्य कार्यकारी अधिकारी योगेश कुंभेजकर, जिला पुलिस अधीक्षक राकेश ओला, स्वास्थ्य उपसंचालक डॉ. संजय जायस्वाल, मेडिकल के अधिष्ठाता डॉ. सुधीर गुप्ता, मेयो के अधिष्ठाता डॉ. अजय केवलिया, जिला शल्य चिकित्सक डॉ. देवेंद्र पातुरकर, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दीपक सेलोकर, उद्योग सह संचालक श्री. धर्माधिकारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

प्रतिदिन 50 हजार से अधिक वैक्सीनेशन हो
डॉ. राऊत ने कहा कि ग्रामीण सहित शहरी भाग में प्रतिदिन 50 हजार से अधिक लोगों को टीका लगाना है। 18 से 44 वर्ष के 13 लाख लोग हैं। इन्हें डोज देने के लिए बड़े स्तर पर केंद्र शुरू करें। 25 निजी अस्पतालों में टीकाकारण की सुविधा दी जाए, तो बड़ा लक्ष्य हासिल कर सकते हैं। तीसरी लहर से निपटने के लिए 30 ऑक्सीजन वॉक इन सेंटर शुरू किए जाएंगे। इसमें जिन्हें ऑक्सीजन की जरूरत होगी, उन्हें तुरंत ऑक्सीजन दी जाएगी। इसके लिए 100 कसंट्रेटर उपलब्ध कराए जाएंगे। 

200 बेड बच्चों के लिए आरक्षित
कोविड के लिए मेडिकल कॉलेज सहित ग्रामीण अस्पताल में आवश्यकता अनुसार ऑक्सीजन उपलब्ध है, इसके लिए ऑक्सीजन निर्माण की सुविधा शुरू है। लिक्विड ऑक्सीजन के स्टोरेज के लिए केंद्र भी स्थापित किया गया है। इसके लिए 1 हजार 375 नए ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदे जाएंगे।  जिले में प्रतिदिन 160 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत है। इससे तीन गुना अधिक ऑक्सीजन उपलब्ध होगी। मनपा आयुक्त राधाकृष्णन बी. ने कहा कि अमरावती रोड पर 600 नए बेड और शहर में 1 हजार 800 बेड उपलब्ध होंगे। इसमें से करीब 200 बेड बच्चों के लिए आरक्षित करने की योजना है।

जिला वार्षिक योजना के  प्रस्ताव समय पर पेश करें : डॉ. राऊत
पालकमंत्री डॉ. नितीन राऊत ने जिला वार्षिक योजना 2021-22 के विकास कार्य के प्रस्ताव समय पर नियोजन कार्यालय को पेश करने के निर्देश दिए हैं। इस साल  5 हजार 668 काम प्रस्तावित हैं। 

99.46 फीसदी निधि खर्च
पालकमंत्री डॉ. राऊत की अध्यक्षता में बचत भवन में जिला नियोजन समिति की बैठक हुई। बैठक में विधायक राजू पारवे, नागपुर सुधार प्रन्यास के सभापति मनोज सूर्यवंशी, जिलाधीश रवींद्र ठाकरे, मुख्य कार्यकारी अधिकारी योगेश कुंभेजकर, मनपा आयुक्त राधाकृष्णन. बी. उपस्थित थे।  इस साल के लिए जनप्रतिनिधि व विभागों की तरफ से  5 हजार 668 काम प्रस्तावित किए गए हैं। 456.15 करोड़ के 3 हजार 921 कामांे को मंजूरी दी गई।  जिले को उपलब्ध 400 करोड़ की निधि  संबंधित विभागों को वितरित की गई है। इसमें से 397.86 करोड़ यानी 99.46 फीसदी निधि खर्च करने की जानकारी जिला  नियोजन अधिकारी मिलिंद नारिंगे ने बैठक में दी है।

95.62 करोड़ की मंजूरी
 डॉ. राऊत ने जिले के स्कूल व पुलिस थानों में सौर ऊर्जा का इस्तेमाल करने की जानकारी दी। कोरोना के कारण स्कूल बंद हैं, ऐसे में स्कूलों के प्रस्तावित निर्माणकार्य पूर्ण करने को कहा। ई-लाइब्रेरी का प्रस्ताव देने की भी सूचना की। जिला वार्षिक योजना को 100 फीसदी निधि वितरित होगी। पहले 6 महीने में 50 फीसदी  निधि वितरित की जाएगी। जिले को 165.09 करोड़ की निधि वितरित की गई आैर 95.62 करोड़ को  प्रशासकीय मान्यता दी गई है।  

खबरें और भी हैं...