comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

वर्धा-नांदेड़ वाया यवतमाल के लिए 347 करोड़ , वर्धा-बल्लारशाह के लिए 146 करोड़ रुपए मिले

वर्धा-नांदेड़ वाया यवतमाल के लिए 347 करोड़ , वर्धा-बल्लारशाह के लिए 146 करोड़ रुपए मिले

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  हाल ही में केंद्र में वित्त मंत्री ने बजट जारी किया है। इसमें रेलवे का बजट भी जारी किया गया। रेलवे में इस बार भी इंफ्रास्ट्रक्चर और डिजिटाइजेशन पर जोर दिया गया है।  सभी जोन की पिंक बुक जारी हुई है। इसमें वर्धा-नांदेड़, वर्धा-नागपुर तीसरी लाइन, वर्धा-बल्लारशाह तीसरी लाइन, इटारसी-नागपुर, वर्धा नागपुर चौथी लाइन और वर्धा चितोड़ा दूसरी लाइन के लिए राशि मिली है। इसके साथ ही निर्माण और मोडिफिकेशन के लिए भी बजट मिला है। हैरत यह है कि महत्वपूर्ण समझे जाने वाले अजनी स्टेशन को टर्मिनस बनाने के लिए सिर्फ 4.25 करोड़ रुपए ही मिले।

नई और पुरानी निर्माणाधीन लाइन के लिए निधि : इस साल के बजट में मुख्य रूप से नई लाइन और पुरानी निर्माणाधीन लाइन पर ज्यादा ध्यान दिया गया है। 
अमरावती-नरखेड़ (138 किमी) नई लाइन को 49.49 करोड़ रुपए मिले।
वर्धा-नांदेड़ वाया यवतमाल-पुसद (270 किमी) के लिए  347 करोड़। 
वर्धा-नागपुर तीसरी लाइन (78.80 किमी) लाइन को 46.21 करोड़ मिले हैं। 
वर्धा-बल्लारशाह तीसरी लाइन (132 किमी) लाइन के लिए 146 करोड़। 
इटारसी-नागपुर तीसरी व चौथी लाइन (280 किमी) के लिए 261 करोड़।  
वर्धा-नागपुर चौथी लाइन के लिए 148 करोड़ की निधि बजट में मिली है। 
अजनी रेलवे स्टेशन को टर्मिनस बनाने के लिए 4.25 करोड़ रुपए मिले। 

नागपुर स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 1, 2 और 3 का मोडिफिकेशन : इसके अतिरिक्त नागपुर मंडल के पुराने ड्यूटी बंकर की जगह नए ड्यूटी बंकर बनाने के लिए भी निधि मिली है। नागपुर-बडनेरा और वर्धा-बल्लारशाह की आरई केबल के बदलाव, मंडल के के टाइप क्वार्टर को बदल कर आरबी-2 टाइप क्वार्टर के बदलाव, नागपुर स्टेशन के प्लेटफार्म 1,2 और 3 के इटारसी एंड पर मोडिफिकेशन और गोधनी-नागपुर-खापरी के बीच संपूर्ण ब्लॉक प्रणाली को बदल कर स्वचालित ब्लॉक प्रणाली के लिए निधि मिली है। साथ ही माजरी-खापरी-गोधनी को आदर्श स्टेशन में बदलाव भी प्रस्तावित है।
 

कमेंट करें
BSyKR