दैनिक भास्कर हिंदी: लावारिस हालत में स्टेशन पर मिले 4 बच्चे, RPF ने किया परिजनों के हवाले

October 28th, 2018

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। शहर के गोराबाजार एरिया से 25 अक्टूबर से भागे चार नाबालिगों में दो जबलपुर स्टेशन पर पाए गए। रविवार को सतना से ट्रेन से आने के बाद दोनों स्टेशन पर RPF द्वारा पकड़े गए। इनके साथ भागे दो अन्य बच्चे शनिवार को ही लौट आए थे। उधर, रांझी स्थित शेल्टर होम से एक दिन पहले गायब हुए दो बच्चे भी रविवार को RPF के हाथ लगे हैं। दोनों स्टेशन ट्रेन देखने पहुंचे थे।

RPF से मिली जानकारी के अनुसार सहायक उप निरीक्षक आईएन बघेल, सउनि एस के गौतम, प्रधान आरक्षक शिवराम शर्मा, संजय प्रताप सिंह, शीतल सिंह चौहान, आरक्षक हीरेन्द्र प्रताप सिंह के साथ सर्कुलेटिंग ऐरिया, प्लेटफार्म व यात्री गाडिय़ों की चैकिंग में लगे थे। इसी दौरान स्टेशन प्लेटफार्म एक पर सीढिय़ों के पास दो लड़के उम्र करीबन 14 वर्ष संदिग्ध व लवारिस दिखाई देने पर पूछताछ करने पर अपना नाम अभिषेक व आयुष निवासी गोराबाजार जबलपुर बताया। पूछताछ में दोनों ने बताया कि घरवालों के डांटने पर दो अन्य दोस्तों के साथ घर से भाग कर सतना चले गए थे। सतना में दो दोस्त पकड़े गए। हम दोनों ट्रेन में बैठकर वापस आ गए। दोनों को परिजनों के हवाले कर दिया गया है। RPF की इस कार्रवाई की अभिभावकों ने सराहना की है। वहीं बच्चों को अपने बीच पाकर अभिभावकों के चेहरे खुशी से खिल गए।

इसी तरह प्लेटफार्म 2-3 पर गश्त के दौरान एएसआई आईएन बघेल, प्रधान आरक्षक लारेन्स कमल को प्लेटफार्म 2-3 के कटनी एण्ड पर 9 व 10 साल के दो बच्चे लावारिस हालत में मिले। पूछताछ में उन्होंने बताया कि दोनों रांझी शेल्टर होम में रहते हैं और 26 अक्टूबर को स्कूल से भागकर शहर में घूमते रहे और आज ट्रेन देखने के लिए स्टेशन आ गए थे। दोनों को शेल्टर होम के सुपुर्द कर दिया गया है। RPF का कहना है कि हमारे द्वारा प्रयास किए जाते हैं कि जो भी बच्चे संदिग्ध व लवारिस दिखते हैं, उनसे पूछताछ कर उनको परिजनों के हवाले किया जाए। इसके साथ ही समझाइश भी दी जाती है। 

खबरें और भी हैं...