परेशानी: हड़ताल में फंसीं नागपुर आने वाली 65 नई इलेक्ट्रिक बसें

February 8th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर। वर्ष 2022 की शुरुआत में एसटी को नई इलेक्ट्रिक बसें मिलने वाली थीं, लेकिन कर्मचारियों की हड़ताल के कारण अभी बसों की दरकार ही नहीं दिखने से प्रक्रिया मुख्यालय स्तर पर ही ठंडे बस्ते में पड़ी है।  

प्रदेश के लिए 217 बसों का प्रावाधान : वर्तमान में एसटी की लाल व शिवशाही बसें हैं, जो डीजल से चलती हैं। प्रति दिन लाखों लीटर डीजल की खपत होती है। बसों का किराया बहुत ज्यादा नहीं रहने से विभाग घाटे में चल रहा है। ऐसे में आए दिन डीजल खरीदी के लिए परेशान होना पड़ता है। बसें भी रदद् करनी पड़ती है। इसका हल निकालने के उद्देश्य से इलेक्ट्रिक बसों की घोषणा की गई थी।

वर्ष 2022 की शुरुआत में योजना को साकार किया जाने वाला था। महीनों पहले इस संबंध में राज्य के सभी विभाग को फरमान भेजते हुए इलेक्ट्रिक बसें चलाने के लिए रूपरेखा तैयार करने को कहा गया है। इस अनुसार, पूरे  प्रदेश में कुल 217 बसें दी जाने वाली थीं। इसमें केवल नागपुर विभाग में 65 बसों का प्रावधान था। इन बसों के लिए रूट तय करने से लेकर कहां कितने चार्जिंग प्वाइंट बनेंगे आदि भी तय कर लिए गए हैं। मुंबई मुख्यालय स्तर पर ही मामला ठंडे बस्ते में पड़ा है। अब नई इलेक्ट्रिक बसें कब और किस तरह से चलेंगी, यह सवाल सामने है। 

मामला आगे बढ़ा ही नहीं, एक कारण हड़ताल भी...
नए साल की शुरुआत में आने वाली थीं इलेक्ट्रिक बसें, लेकिन मामला मुंबई से आगे बढ़ा ही नहीं। इसका एक कारण हड़ताल भी हो सकता है।  - नीलेश बेलसरे, विभाग नियंत्रक, एसटी महामंडल, नागपुर