comScore

यवतमाल में एक साथ 8 कोरोना पॉजिटिव मिले, शहर के 38 मुहल्ले सील

यवतमाल में एक साथ 8 कोरोना पॉजिटिव मिले, शहर के 38 मुहल्ले सील

डिजिटल डेस्क, यवतमाल। स्थानीय जिला सरकारी अस्पताल में बने कोरोना वार्ड में दाखिल 8 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद न केवल यवतमाल शहर बल्कि जिले में भी हड़कम्प मच गया है। यह सभी पॉजिटिव मरीज न केवल यवतमाल बल्कि नेर, बाभुलगांव, सावर तक की सैर करके लौट चुके हैं जिससे प्रशासकीय महकमे की भागदौड़ अत्याधिक तेज हो गई है। गौरतलब है कि, जो लोग पॉजिटिव पाए गए हैं उनमें से 7 लोग दिल्ली के मरकज में आयोजित सम्मेलन से लौटने के बाद शहर और जिले में घूमते रहे। इसी कारण शहर के  जिस क्षेत्र से तब्लीगी जमात के लोगों को पकड़ा गया था, उन क्षेत्रों को सील कर दिया गया है। इनमें प्रभाग नंबर 10 और प्रभाग नंबर 20 शामिल है। इन दोनों प्रभागों के कुल 38 मुहल्ले पुलिस ने सील किए हैं। इसके अलावा नेर, बाभुलगांव, सावर पर भी प्रशासन ने ध्यान केंद्रित किया है।

 जिला प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार जो 8 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं उनमें से 1 व्यक्ति को जनरल वार्ड में रखा गया था जिसके संपर्क में आए स्टाफ के कुल 40 लोगों को भी अस्पताल में दाखिल किया गया है। 47 और लोग भी ट्रेस हुए हैं जिनकी तलाश चल रही है। साथ ही शहर के 34 लोग मरकज गए थे जिनमें से 28 का तो पता चल गया लेकिन 6 लोगों का पता अब तक नहीं चल पाया है। प्रशासन उनकी सरगर्मी से तलाश कर रहा है। जिन मुहल्लों को प्रतिबंधित किया गया है, उन क्षेत्रों की सभी दुकानें बंद कर दी गई हैं। क्षेत्र में किसी की भी आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। आवश्यकता की चीजें स्वयं प्रशासन ही मुहैया करवा रहा है। पूरे क्षेत्र को प्रशासन ने सैनिटाइज कर दिया है।
 
आइसोलेशन में 88 मरीज
बुधवार 8 अप्रैल की रात यवतमाल मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन कक्ष में 65 संदिग्ध दाखिल थे। उनमें से 8 की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी। गुरुवार को इनकी संख्या बढ़कर 88 हो चुकी है। इनमें नए 23संदिग्ध की वृध्दि हुई है। इन 23के साथ ही कुल 78 लोगों के थ्रोट स्वॅब सैम्पल गुरुवार 9 अप्रैल को नागपुर भिजवाए गए हैं।

 गड़चिरोली में मिला एक संदिग्ध
गड़चिरोली जिले में मिला एक और संदिग्ध अहेरी तहसील अंतर्गत ग्राम नागेपल्ली में कोरोना का संदिग्ध मरीज मिलने के बाद प्रशासन ने गांव को सील कर दिया है। यह व्यक्ति 18 मार्च को अकोला से नागेपल्ली पहुंचा था। सर्दी-खांसी होने के बाद वह नागेपल्ली के अस्पताल में उपचाररत था लेकिन उसकी हालत बिगड़ती जा रही थी। कोरोना के लक्षण देख उसे जिला मुख्यालय भिजवाया गया। पुलिस ने नागेपल्ली की ओर जानेवाले सभी मार्ग बंद कर दिए हैं।
- नेर, बाभुलगांव, सावर सहित कई जगह घूमे  थे पॉजिटिव मरीज

कमेंट करें
LxHZf