दैनिक भास्कर हिंदी: प्रतिमा विसर्जन करने गए बालक की मौत, एक घायल, पुलिस ने किया मर्ग कायम

October 21st, 2018

डिजिटल डेस्क, बालाघाट। दशहरा के बाद मां दुर्गा प्रतिमा के विसर्जन के दौरान अलग-अलग दो जगह पर जहां एक बालक की मौत हो गई। वहीं डूब रहे युवक को बचा लिया गया। मिली जानकारी अनुसार बालाघाट मुख्यालय के बुढ़ी शिवमंदिर के पास स्थापित प्रतिमा का विसर्जन करने समिति के लोगो के साथ 24 वर्षीय युवक गुरूभक्त झाडे पिता लिखिराम झाडे विसर्जन करने वैनगंगा नदी के ढीमरटोला घाट में गये हुए थे। जहां मूर्ति विसर्जन के दौरान गुरूभक्त डूबने लगा। जिसे देखने के बाद लोगों ने दौड़कर उसे बचाया और उसे जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। जहां उसका उपचार जारी है।

वहीं पुलिस ने बालक के शव का पंचनामा कर पोस्ट मार्टम कराते हुए परिजनों को सौंप दिया है। घटना के बाद से गांव में मानो मातम सा छा गया है। परिजनों का कहना है कि उन्हें नहीं मालूम था कि उनका बेटा अब लौटकर नहीं आएगा। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल रहा। परिजनों का कहना है कि विसर्जन स्थल पर सुरक्षा के इंतेजाम किए जाएं, ताकि किसी के घर का चिराग न बुझ सके।

इस संबध में पुलिस ने बताया कि हट्टा थाना अंतर्गत मंगोली खुर्द में विसर्जन करने गया 17 वर्षीय बालक अविराज पिजा मविन्द्र सावनकर की गहरे पानी में डूबने से मौत हो गई। बताया जाता है कि मंगोली खुर्द में स्थापित दुर्गा प्रतिमा को विसर्जन के लिए गांव के पास ही वैनगंगा नदी में ले जाया गया था। जहां विसर्जन के दौरान वह डूब गया। जिसके बाद लोगों ने उसे दौड़कर बाहर निकाला, तब तक अविराज की सांसे चल रही थी। जिसे ईलाज के लिए जिला चिकित्सालय लाया जा रहा था। इस दौरान ही उसकी मौत हो गई। जिसे परिजन वापस घर ले गये। जिसके बाद हट्टा पुलिस को इसकी जानकारी मिली। जानकारी मिलने के बाद मंगोली खुर्द पहुंची हट्टा पुलिस ने बालक अविराज के शव को बरामद किया और आज 21 अक्टूबर को शव पंचनामा कार्यवाही के बाद शव का पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है। घटना के बाद से ही क्षेत्र में शोक की लहर है।