comScore

ससुर ने 2 दामाद के साथ  मिलकर पड़ोसी को उतारा मौत के घाट

ससुर ने 2 दामाद के साथ  मिलकर पड़ोसी को उतारा मौत के घाट

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा/परासिया। उमरेठ के बीजकवाड़ा में 15 अगस्त की शाम एक शख्स ने अपने 2 दामाद के साथ मिलकर पड़ोसी को मौत के घाट उतार दिया। सब्बल और लाठियों से हमलावर तब तक हमला करते रहे जब तक पड़ोसी ने दम नहीं तोड़ दिया। विवाद के वक्त मृतक का 14 वर्षीय बेटा मौके पर मौजूद था। दोनों पक्षों में लेन-देन का विवाद था। मृतक ने आरोपी के कुएं से इस शर्त पर सिंचाई के लिए पानी लिया था कि वह खेत में बोई लहसुन की फसल का दसवां हिस्स्सा बदले में देगा। जब फसल तैयार हुई तो लहसुन के भाव काफी कम थे इसलिए आरोपियों ने लहसुन लेने से इंकार कर दिया।

मृतक किसान ने कम बाजार भाव पर ही लहसुन बेच दिया। कुछ समय बाद जब लहसुन के भाव बढ़े तो आरोपियों ने किसान से लहसुन की मांग की, लेकिन किसान ने यह कहकर लहसुन देने से इंकार कर दिया कि वह फसल बेच चुका है। बात पैसों के लेन देन की चली, लेकिन कम-ज्यादा को लेकर विवाद शुरू हो गया। इसी विवाद के चलते ससुर और दामाद ने मिलकर हत्याकांड को अंजाम दिया है। पुलिस ने तीनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है।

 
अपने बेटे के साथ निकला था आरोपियों के घर से 
उमरेठ थाना प्रभारी राजेश पटेल ने बताया कि बीजकवाड़ा निवासी रामकृष्ण पिता बाबूलाल पवार (40) और रामचरण पिता झाडूलाल यादव (50) के बीच लम्बे समय से खेत में पानी के बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा है। गुरुवार शाम लगभग 7 बजे रामकृष्ण अपने 14 वर्षीय बेटे अभय पवार के साथ रामचरण के घर के सामने से गुजर रहा था। इसी बात पर दोनों के बीच दोबारा कहासुनी शुरू हो गई। विवाद के दौरान रामचरण का दामाद डोडाराल निवासी अखिलेश पिता अभयलाल यादव (22) और सीलादेही निवासी केशवराव पिता भादू यादव (33) भी आ गए। तीनों ने सब्बल और लाठियों से रामकृष्ण पवार पर हमला कर दिया। रामकृष्ण के सिर पर गंभीर चोट आने से उसकी मौके पर मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव अस्पताल स्थित शवगृह पहुंचाया। तीनों आरोपियों के खिलाफ धारा 302, 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। 


खेत के कोठे में छिपा था आरोपी
पड़ोसी की हत्या के बाद आरोपी रामचरण अपने खेत में बने कोठे में जाकर छिप गया था। पुलिस टीम ने रात लगभग दो बजे आरोपी को दबोच लिया। वहीं हत्या कर फरार एक दामाद सीलादेही और दो आरोपी ग्राम डोडाराल में दूसरे के घरों में छिपे थे। पुलिस टीम ने देर रात छापेमारी कर दोनों आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया। तीनों को जेल भेज दिया गया है।  
 

कमेंट करें
IaGRx