दैनिक भास्कर हिंदी: बार-बार पैसों की मांग से परेशान शख्स ने पत्नी और बेटे को मारकर दफनाया

December 4th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। रामटेक तहसील में एक शख्स ने कुछ दिन पहले अपनी पत्नी और बेटे को मौत के घाट उतार लाशों को खेत में दफना दिया, लेकिन जब उसे अपना जुर्म कचोटने लगा, तो उसने मंगलवार सुबह पुलिस थाने पहुंचकर सरेंडर कर दिया। जबकि परिवारवालों ने महिला और उसके बेटे की गुमशूदगी की रिपोर्ट पहले ही दर्ज करा दी थी। आरोपी अनिरुद्ध बावने ने पुलिस को बताया कि उसकी पत्नी और बेटा पैसे मांगते रहते थे, कई बार वो इनकार कर देता, लेकिन बार-बार उसे पैसों के लिए परेशान करते थे, ऐसे में तंग आकर जब कोई दूसरा रास्ता नहीं सूझा, तो उसने पत्नी और बेटे की जान ले ली, लेकिन ये करतूत उसे चैन से जीने नहीं दे रही थी। दोनो की हत्या करने के बाद वो मानसिक रूप से परेशान रहने लगा, नतीजतन जब उससे रहा नहीं गया, तो वो अपना जुर्म कबूल करने थाने पहुंच गया। जहां उसने पुलिस को वारदात के बारे में जानकारी दी। 

बसा बसाया घर उजाड़ा

पत्नी और बेटे की पैसों की मांग से परेशान अनिरुद्ध ने अपना बसा बसाया घर उजाड़ लिया। आरोपी अनिरुद्ध बावने ने 27 नवंबर को अपनी पत्नी लता बावने और बेटे धीरज बावने पर घातक हमला किया था। जिसमें दोनों ने दम तोड़ दिया। इस बात का किसी को पता नहीं चल सके, इसलिए अनिरुद्ध ने शव ठिकाने लगाने की प्लानिंग भी बना ली थी। उधर गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज करा दी गई। पूछताछ में उसने पुलिस को बताया कि अपने खेल में उसने दोनों को दफना दिया था। आरोपी का बयान लेकर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक राकेश ओला और उनकी टीम मौके पर पहुंच गई। पुलिस टीम ने पहले उस स्थान की पड़ताल की जहां दोनों के शव दफनाए गए थे। 

खेत में गड्‌ढ़ा खुदवाया, लाशें बरामद

टीम मौके पर पहुंची, जहां मामले की तफ्तीश कर रही अलौली पुलिस ने खेत में गड्‌ढ़ा खुदवाना शुरु किया। इसी दौरान वहां दफनाई गईं दोनो लाशें बरामद कर ली गईं। इसके बाद रोली पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी को सलाखों के पीछ भेज दिया।