comScore

बिल्डिंग गिराने के दौरान जर्जर भवन धराशायी, तीन मजदूर दबे, 1 की मौत

December 09th, 2018 22:32 IST
बिल्डिंग गिराने के दौरान जर्जर भवन धराशायी, तीन मजदूर दबे, 1 की मौत

डिजिटल डेस्क, सतना। औद्योगिक नगर के तौर विकसित हो रहे मैहर में पुरानी टॉकीज को गिराकर मॉल बनाने की कोशिश में एक मजदूर की जान चली गई। वहीं दो अन्य घायल हो गए, जिन्हें उपचार के लिए सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

उक्त जानकारी देते हुए टीआई अशोक पांडेय ने बताया कि पवित्र नगर में देवी जी रोड पर स्थित छ: दशक पुरानी कैलाश टाकीज की बिल्डिंग काफी जर्जर हो चुकी है। वहीं मल्टीप्लेक्स के दौर में यहां फिल्मों का प्रदर्शन भी एक दशक से अधिक समय से बंद है। ऐसे में टॉकीज के मालिक प्रमोद जैन ने बिल्डिंग को गिराने का फैसला किया और मजदूरों को काम पर लगा दिया। आज भी दर्जन भर मजदूर तोडफ़ोड़ में लगे थे, तब लगभग 12 बजे तीन मंजिला भवन का एक हिस्सा अचानक ढह गया, जिसके नीचे तीन मजदूर दब गए।

वहीं अन्य मजदूरों ने भाग कर जान बचाई। हादसा होते ही मौके पर चीख-पुकार मच गई। यह खबर टॉकीज मालिक और पुलिस को देने के साथ ही मजदूरों ने साथियों को बचाने की कोशिश शुरू कर दी। लगभग आधे घंटे की मशक्कत के बाद मलवे में दबे विवेक कोल पुत्र संता 24 वर्ष, दुर्जन रावत पुत्र कन्नू 23 वर्ष और निर्मल पुत्र मदन रावत 22 वर्ष सभी निवासी मानपुर गढिय़ा टोला को बाहर निकाल कर सिविल अस्पताल भेजा गया, जहां डाक्टर ने विवेक को मृत घोषित कर दिया।

नहीं थे सुरक्षा के इंतजाम
बिल्डिंग गिराने के लिए लगाए गए मजदूरों की सुरक्षा के इंतजाम नहीं किए गए थे। हेलमेट, जैकेट और जूते समेत कोई भी उपकरण उपलब्ध नहीं थे। जिसके चलते बिल्डिंग का हिस्सा गिरने पर मजदूर चपेट में आ गए। इस घटना को लेकर पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है। विवेचना में लापरवाही मिलने पर सम्बंधितों के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी।

हर तरफ लापरवाही
निजि क्षेत्रों एवं ठेकेदारों के पास काम करने वाले मजदूरों के साथ इस तरह के हादसे होते रहते हैं किंतु प्रशासन इस ओर से आंख बंद किए हुए है ऐसंी स्थिति मेंं दुर्घटना का शिकार होने पर मजदूरों को उनका वाजिब हक नहीं मिल पाता है ।

कमेंट करें
bYI2C