दैनिक भास्कर हिंदी: शिक्षक पति ही निकला पत्नी का हत्यारा, पुलिस को भ्रमित करने रची थी दुष्कर्म की साजिश

March 6th, 2018

डिजिटल डेस्क अनूपपुर । 3 मार्च को राजेन्द्रग्राम थानान्तर्गत ग्राम महोरा में मुन्नी बाई नामक महिला  का शव संदिग्ध परिस्थितियों में मिलने की सूचना पुलिस को मिली। मृतिका के पति हीरालाल बनावल ने पुलिस को बतलाया कि उसकी पत्नी शाम को देवर के घर जाने के लिए निकली थी देर शाम तक जब वह वापस नहीं आई तो उसकी पता तलाशी शुरू की गई। देर रात मुन्नी बाई का शव घर से लगभग 100 मीटर दूर पाया गया। गला दबाकर मुन्नी बाई की हत्या करने के साथ ही उसके साथ दुष्कर्म किए जाने की शिकायत भी फरियादी हीरालाल बनावल द्वारा की गई। आशंका के आधार पर उसने गांव के ही तीन युवकों का नाम भी पुलिस को बताया।  सिर्फ इतना ही नहीं उसने अपने बड़े भाई पर भी हत्या की आश्ंाका व्यक्त की। पूरे मामले की जानकारी तत्काल ही पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन को दी गई। हीरालाल बनावल पाल डोगरी ग्राम पंचायत में शासकीय माध्यमिक विद्यालय में सहायक अध्यापक के पद पर पदस्थ है। शिक्षक होने के कारण पुलिस ने भी उसकी कहानी के आधार पर विवेचना प्रारंभ की। महज 24 घंटे के अंदर ही हत्या की वारदात का ख्ुालासा हो गया। फरियादी शिक्षक ही अपनी पत्नी का हत्यारा निकला।
सामूहिक दुष्कर्म का लगाया आरोप
मृतिका मुन्नी बाई के शव के कपड़े अस्त-व्यस्त थे, अधो और ऊपरी वस्त्रों को भी खुला छोड़ दिया गया था। शव देखकर पति ने मृतिका के साथ सामूहिक दुष्कर्म किए जाने की आश्ंाका भी व्यक्त करते हुए गांव के ही 3 युवकों पर अपनी शंका जाहिर की। फरियादी शिक्षक के बयान के आधार पर पुलिस ने तीनों युवकों से पूछताछ की तो तीनों युवक होली के पर्व में सम्मलित होना बतलाया। इस बात की पुष्टि गांव के लोगों ने भी की। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक ने पूरे मामले की जांच के संबंध में थाना प्रभारी नरेन्द्र पाल को नए निर्देश देने के साथ ही विवेचना के बिन्दुओं को भी बतलाया।
बड़े भाई  पर भी आशंका
तीनों युवकों के घटनाक्रम में शामिल नहीं होने के पुख्ता प्रमाण के बाद जब हीरालाल से पूछताछ की गई तो दोबारा उसने अपने ही बड़े भाई पर दुष्कर्म व हत्या करने के आरोप लगाए।   पुलिस ने अब हीरालाल के बडे भाई से पूछताछ प्रारंभ कर दी। जिसमें यह खुलासा हुआ कि   फरियादी शिक्षक का बड़ा भाई फाग गायन में शामिल था और देर शाम वह सीधे अपने घर लौट गया था। इस बात की गवाही फाग में शामिल लोग व उसके परिजनों ने भी दी। तमाम गवाहों के बाद भी हीरालाल अपने बड़े भाई व पत्नी के बीच चारित्रक संदेह को लेकर आरोप लगाता रहा।
पीएम से हुआ खुलासा
3 मार्च की देर रात से लेकर 4 मार्च की शाम तक पुलिस शिक्षक की कहानी के आधार पर सभी से पूछताछ कर चुकी थी। 4 मार्च को पुलिस ने हीरालाल बनावल का पहला झूठ पकड़ा।  वह लगातार दुष्कर्म के आरोप लगा रहा था किंतु पीएम रिपोर्ट में दुष्कर्म की बात ही नहीं आई।  जिसके बाद पुलिस ने ग्रामीणों से पूछताछ शुरू की तो ग्रामीणों ने बतलाया कि हीरालाल व मृतिका के बीच आए दिन विवाद होता रहता था कुछ दिनों पूर्व ही झगड़े में हीरालाल ने अपनी पत्नी की पिटाई कर दी थी। दोनों के आपसी संबंध भी तनावपूर्ण  थे। साथ ही जिन 4 लोगों के विरूद्ध हीरालाल  ने आरोप लगाए थे ग्रामीणों ने उनके संबंध में भी  बतलाया कि इन लोगों से हीरालाल वैमनस्यता  रखता है। जिसके कारण उन्हें झूठा ही फंसा रहा है। अपने साथ इन लोगों की उपस्थिति का सबूत भी ग्रामीणों द्वारा पुलिस को दिया गया। साथ ही सभी ने बयान भी दिए। पुलिस को मिले दो नए सबूतों के आधार पर पुलिस ने जांच प्रारंभ की और 4 मार्च को मृतिका के अंतिम संस्कार के चंद घंटे के अंदर ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया।
खाने-पीने के विवाद में दबाया गला
पुलिस ने जब हीरालाल बनाबल से सख्ती से पूछताछ की तो उसने बतलाया कि 3 मार्च की रात लगभग 9.30 बजे मृतिका मुन्नी बाई शराब के नशे में उससे खाने पीने को लेकर विवाद करने लगी। गुस्से में आकर उसने मुन्नी बाई का गला दबा दिया। जिससे उसकी मौत हो गई।   घर से कुछ ही दूरी पर झाडिय़ों में मुन्नी बाई का शव छिपाकर उसने उसकी तलाश का दिखावा  भी किया। वहीं पुलिस को भटकाने के लिए उसके द्वारा मुन्नी बाई के कपड़ों को भी अस्त-व्यस्त करते हुए दुष्कर्म की शिकायत भी की गई।
इनका कहना है।
पीएम रिपोर्ट में दुष्कर्म नहीं आने व मौजूदा साक्ष्यों व गवाहों के आधार पर मृतिका के पति हीरालाल बनावल  द्वारा अपराध घटित करना पाया गया जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है।
सुनील कुमार जैन पुलिस अधीक्षक अनूपपुर