दैनिक भास्कर हिंदी: हीरा व्यापारी मर्डर : 14 तक पुलिस हिरासत में सभी आरोपी, एक्ट्रेस देवोलीना को नहीं मिली क्लीनचिट

December 9th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। व्यापारी राजेश्वर उदानी हत्याकांड में गिरफ्तार आरोपियों सचिन पवार और दिनेश पवार को रविवार को भोईवाडा मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया गया जहां से उसे 14 दिसंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। पेशी के दौरान पुलिस ने अदालत को बताया कि हत्याकांड में चार और लोग शामिल हैं उनकी भी गिरफ्तारी की कोशिशें जारीं हैं। इसके अलावा एक्ट्रेस देवोलीना भट्टाचार्य को भी मामले में अभी तक क्लीनचिट नहीं दी गई है। पुलिस के मुताबिक वह अब भी शक के घेरे में है और जरूरत पड़ने पर पूछताछ के लिए फिर बुलाया जाएगा।

मामले में गिरफ्तार सचिन पवार राज्य के मौजूदा गृहनिर्माण मंत्री प्रकाश मेहता का निजी सचिव रह चुका है। हालांकि मेहता ने मामले में सफाई देते हुए बताया था कि अब दोनों के बीच कोई संबंध नहीं है। इसके अलावा दिनेश पवार नाम के एक निलंबित पुलिस कांस्टेबल की भी भूमिका इस हत्याकांड में सामने आई है। उसे शुक्रवार को ही बलात्कार के एक मामले में पंतनगर पुलिस ने गिरफ्तार किया था। पुलिस ने उसे उदानी हत्याकांड में गिरफ्तार कर लिया और सचिन के साथ उसे भी कोर्ट में पेश किया गया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक जिस कार में उदानी की हत्या हुई उनका इंतजाम दिनेश ने ही किया था। उदानी अपनी कार से उतरकर उस कार में बैठ गए थे। बीच रास्ते इसमें कुछ और लोग सवार हुए जिन्होंने उदानी की जान ले ली।

देवोलीना को क्लीन चिट नहीं

साथिया साथ निभाना की चर्चित गोपी बहू यानी एक्ट्रेस भट्टाचार्य से पुलिस ने शुक्रवार को लंबी पूछताछ में बाद छोड़ दिया लेकिन उसे अभी क्लीनचिट नहीं दी गई है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक देवोलीना सचिन और उदानी दोनों के साथ फोन के जरिए संपर्क में थी। पुलिस देवोलीना को पूछताछ के लिए फिर बुला सकती है। इसके अलावा छानबीन में खुलासा हुआ है कि कई बारबालाएं भी उदानी के संपर्क में थीं। पुलिस उनके भी बयान दर्ज कर सकती है।

क्या है हत्या की वजह

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त लखमी गौतम के मुताबिक उदानी और सचिन पवार के बीच पैसों के लेनदेन को लेकर विवाद था। इसके अलावा उदानी की सचिन की एक महिला मित्र पर बुरी नजर थी। इन दोनों वजहों से हत्या की साजिश रची गई।

मजाकिया वीडियो बनाने के दौरान दबाया गला

पुलिस सूत्रों के मुताबिक उदानी की हत्या के लिए दो भाड़े के हत्यारों और एक मॉडल को 5 लाख रूपए दिए गए थे। साजिश के तहत मॉडल को शरारती वीडियो शूट करना था। जिसमें वह उदानी का गला दबाती नजर आती, लेकिन इसी दौरान दूसरे आरोपियों ने सच में उदानी का गला दबाकर उनकी जान ले ली।

क्या है मामला

घाटकोपर इलाके में रहने वाले 58 साल के कारोबारी राजेश्वर उदानी 28 तारीख को अपने घर से अंधेरी जाने की बात कहकर निकले थे। वे घर वापस नहीं आए तो अगले दिन परिवार वालों ने पंतनगर पुलिस स्टेशन में उनकी गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई। इस बीच शुक्रवार को नई मुंबई के पनवेल इलाके में एक शख्स का शव सड़ी गली अवस्था में मिला। जूतों और कपड़ों के जरिए परिवार वालों ने उदानी की पहचान की। छानबीन में पुलिस ने पाया कि जिस दिन उदानी लापता हुए थे उस दिन सचिन पवार ने उन्हें 13 बार फोन किया था।