comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

औरंगाबाद व नाशिक की दो बियर कंपनियों पर कार्रवाई

औरंगाबाद व नाशिक की दो बियर कंपनियों पर कार्रवाई

डिजिटल डेस्क, नागपुर। डायरेक्टरेट जनरल ऑफ जीएसटी इंटेलिजेंस (डीजीजीआई) की आैरंगाबाद व नाशिक यूनिट ने औरंगाबाद व नाशिक की दो बड़ी बियर कंपनियों पर कार्रवाई की है। इन कंपनियों से 65 लाख 17 हजार की जीएसटी वसूल की गई है। जुलाई 2017 से जुलाई 2020 के बीच दोनों कंपनियों ने जीएसटी की चोरी की है। जांच में इसका खुलासा हुआ। 

डीजीजीआई की तरफ से मे. कार्ल्सबर्ग इंडिया प्रा. लिमिटेड औरंगाबाद व नाशिक की मे. सागर डिस्टिलरी पर कार्रवाई की गई है। आैरंगाबाद की मल्टीनेशनल ब्रेवरी पर बियर में अल्कोहल की मात्रा तय सीमा से ज्यादा डालने का आरोप है। यह  खतरनाक माना गया है। जुलाई 2017 से जुलाई 2020 के बीच 21.09 लाख लीटर अल्कोहल मिलाया गया, जो मानकों के अनुसार स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं है। बियर में तय मानकों के अनुसार ही अल्कोहल डालना पड़ता है। इसकी कीमत 11 करोड़ 59 लाख है आैर यह सब बगैर जीएसटी भुगतान के हुआ।

2 करोड़ 9 लाख की जीएसटी भुगतान नहीं किया गया। इसी तरह, नाशिक की कंपनी ने जुलाई 2017 से जून 2020 के बीच 71 लाख 8 हजार 940 रुपए की जीएसटी का भुगतान नहीं किया। डीजीजीआई की तरफ से इन कंपनियों पर 1 करोड़ 16 लाख की देनदारी निकाली गई। 65 लाख 17 हजार की जीएसटी वसूली की गई। जीएसटी की शेष राशि की वसूली शीघ्र की जाएगी। तय समय में शेष राशि का भुगतान नहीं करने पर संपत्ति अटैच करने की चेतावनी विभाग की तरफ से दी गई है। डीजीजीआई नागपुर जोनल यूनिट के मार्गदर्शन में हुई इस कार्रवाई से बियर व शराब बनानेवाली कंपनियों में हड़कंप मचा हुआ है। 

कमेंट करें
eRCrx