सरकार ने कहा-: आत्मदाह, आत्महत्या की चेतावनी पर 24 घंटे में लेना होगा एक्शन

October 4th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी के वर्धा रोड स्थित निवास के सामने बुलढाणा के  पीड़ित व्यक्ति द्वारा आत्महत्या के प्रयास का मामला चर्चा में है। इस घटना ने राजनीतिक सहित प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मचा दिया है। इस बीच राज्य सरकार ने एक परिपत्रक निकालकर प्रशासनिक विभागों को ऐसे मामलों में तुरंत कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। आत्महत्या या आत्मदाह की चेतावनी का पत्र मिलने के 24 घंटे में प्रशासन को तुरंत हरकत में आने का आदेश दिया गया है। हालांकि यह आदेश सरकार ने घटना के एक सप्ताह पहले यानी 24 सितंबर को ही निकाला था। फिर भी प्रशासन इस मामले में मौन साधे रहा और घटना का इंतजार करता रहा। इस कारण सवाल उठ खड़े हुए हैं।

यह हंै निर्देश : संबंधित पुलिस थानों को योग्य प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करने के लिए पत्र दें। आत्मदाह, आत्महत्या से संबंधित जानकारी मिलने के 24 घंटे के भीतर संबंधित पुलिस आयुक्त या पुलिस थानों को लिखित सूचना दें। संबंधित कार्यालय के आसपास में विशेष सतर्कता बरतें। पुलिस बंदोबस्त रखें। जिन कारणों के लिए यह कदम उठाया जा रहा है, ऐसे मुद्दों की जांच-पड़ताल कर सरकार व प्रशासन का पक्ष संबंधित को बताएं। आवश्यकता होने पर उसकी सुनवाई कर उसे लिखित सूचित करें और आत्महत्या करने से उसे बचाएं। फिर भी नहीं मानता है तो उसके खिलाफ पुलिस द्वारा योग्य प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करें और की गई कार्रवाई की रिपोर्ट सरकार, आयुक्त कार्यालय को तत्काल भेजें।

कार्यप्रणाली कटघरे में  : सरकार के स्पष्ट दिशा-निर्देश होने के बावजूद केंद्रीय मंत्री गडकरी के निवास के सामने हुई घटना को लेकर प्रशासन उदासीन बना रहा है। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि पीड़ित व्यक्ति ने किस विभाग को अपनी शिकायत की थी और प्रशासन ने इस संबंध में कौन-कौन से कदम उठाए थे, लेकिन घटना ने शासन-प्रशासन की कार्यप्रणाली को कटघरे में खड़ा कर दिया है।