दैनिक भास्कर हिंदी: सीरियल किलर ने कबूले 30 कत्ल, एक जान की कीमत महज 25 हजार रूपये

September 9th, 2018

हाईलाइट

  • सीरियल किलर ने कबूली हत्याए की 30 वारदातें
  • 25 से 30 हजार रूपए के लिए करते थे बेकसूरों की हत्या
  • लूट की वारदातों को अंजाम देने के लिए ड्राइवर-क्लीनर की करते थे हत्याएं

डिजिटल डेस्क, भोपाल। ये कहानी चौंकाने वाली है ट्रक ड्रायवरों और क्लीनर्स की लगातार मिलती लाशों के सौदागर का राज खुल गया है। उसकी मुंह जुबानी सुनकर पुलिस अफसर भी सन्न हैं। इस गिरोह का सरगना एक दो नहीं अब तक 30 हत्याएं काबूल कर चुका है। इस सीरियल किलर ने भोपाल और उसके आस-पास के इलाके के गायब होते माले से भरे ट्रकों  को लूटकर बाजपा में बेचा और लाशों को ठिकाने लगा दिया है। पूछताछ में उसका हर खुलासा पुलिस को हैरान कर रहा है।

 

अब तक बिलखिरिया पुलिस उससे हत्या की 30 संगीन वारदातों का खुलासा करा चुकी है। इनमें 22 ऐसी हैं, जिन्हें पुलिस कभी सुलझा ही नहीं पाई थी। हर कत्ल पर आदेश के हिस्से में महज 25 से 30 हजार रुपए ही आते थे। इन 30 में से एक हत्या तो उसने 25 हजार रुपए की सुपारी लेकर भी की है। शनिवार देर रात कड़ी पूछताछ में उसने 16 हत्याएं और कबूल कीं, जिनमें आठ के आरोप में वह जेल भी जा चुका है। शुक्रवार रात पूछताछ के बीच एसपी साउथ राहुल लोढा को रायपुर पुलिस का कॉल आया। उन्होंने बताया कि राजनांदगांव के पास अलग-अलग स्थानों पर जंगल में तीन ड्राइवर-क्लीनर के शव मिले थे। बेमतरा के पास पुलिया के नीचे एक और बिलासपुर के पास नदी में एक शव मिला है। इस आधार पर पुलिस ने आदेश खामरा से सवाल किए तो उसने इन पांचों बेकसूरों की हत्या और पूरा घटनाक्रम भी पुलिस के सामने उगल दिया। इस मामले में आदेश के हत्या की सुपारी लेने के बयान को पुलिस ने वेरिफाई करवाया। शिवपुर थाने में गेंदालाल और कौशल्या के मर्डर की केस डायरी पुलिस को मिल गई। इसमें वो 10 शिकायतें भी मिलीं, जो उनके बेटे जगदीश ने पुलिस से की थीं। जगदीश की मर्ग डायरी भी औबेदुल्लागंज थाने में मिल गई। इसमें पुलिस ने खात्मा लगा दिया था। पुलिस ने उस कॉन्ट्रेक्टर से भी पूछताछ की, जिस पर जगदीश ने आरोप लगाए थे। बिलखिरिया पुलिस ने आगे की विवेचना के लिए कॉन्ट्रेक्टर को शिवपुर पुलिस को सौंप दिया है। 

 

होशंगाबाद में पेड़ पर लटके मिले थे बुजुर्ग दंपती के शव

शक के घेरे में आए कॉन्ट्रेक्टर से 25 हजार की सुपारी लेकर उनके बेटे की भी हत्या कर दी। एसपी साउथ ने बताया कि पूछताछ में आदेश ने होशंगाबाद के शाहपुर गांव निवासी जगदीश कीर की हत्या करना भी कबूल किया है। आदेश ने पुलिस को बताया है कि जगदीश के पिता गेंदालाल कीर (85) और मां कौशल्या (70) के शव उन्हीं के खेत में लगे आम के पेड़ पर फंदे से लटके मिले थे। 21 अगस्त 2013 को इस मामले में शिवपुर थाना पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया। जांच के दौरान शिवपुर पुलिस आरोपियों को नहीं तलाश पाई और मामले में खात्मा लगा दिया। जगदीश इस मामले में एक कॉन्ट्रेक्टर समेत कुछ लोगों पर हत्या का आरोप लगा रहा था। पुलिस अफसरों से इस संबंध में 10 बार लिखित शिकायत भी की थी। आदेश का दावा है कि उक्त कॉन्ट्रेक्टर ने उसे जगदीश की हत्या की सुपारी दी थी।

खबरें और भी हैं...