दैनिक भास्कर हिंदी: डेंगू को लेकर प्रशासन अलर्ट, अस्पतालों में बनाए आइसोलेशन वॉर्ड

August 11th, 2017

डिजिटल डेस्क,भोपाल। प्रदेश के सभी जिलों में स्वाइन फ्लू और डेंगू से निपटने के लिए आइसोलेशन वॉर्ड बनाए गए हैं। इसके अलावा प्रदेश के सभी चिकित्सा महाविद्यालयों के अस्पतालों में भी स्वाइन फ्लू के इलाज की पर्याप्त व्यवस्था है। गुरूवार को स्वास्थ्य आयुक्त पल्लवी जैन ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से व्यवस्थाओं की समीक्षा की। 

इस दौरान उन्होंने बताया कि 300 से अधिक पलंग वाले अस्पतालों में 10 पलंग, 100 से 300 तक में 5 और 50 बिस्तर वाले अस्पतालों में दो पलंग स्वाइन फ्लू मरीजों के लिए आरक्षित हैं। पड़ोसी राज्यों में बढ़ती संख्या के मद्देनजर प्रदेश में स्वाइन फ्लू के प्रति सभी अस्पतालों को अलर्ट किया जा चुका है। राजधानी के जेपी अस्पताल में 7 पलंग का आइसोलेटेड स्वाइन फ्लू वॉर्ड और 10 पलंग का डेंगू वॉर्ड बनाया गया है। वॉर्ड में नर्सिंग स्टॉफ, दवाई, उपकरण, वीटीएन किट, पीपीई किट, एन-95 मास्क, प्लेन मास्क, दस्ताने, बी.पी. इन्स्ट्रूमेंट, ओ.टी. गैस फालो मीटर, ई-पेड मॉनीटर, टेमी-फ्लू दवा सहित अन्य आवश्यक दवाओं की पर्याप्त व्यवस्था है। स्वाइन फ्लू मरीजों के लिए अलग से ओपीडी बनाई गई है, ताकि सामान्य ओपीडी में आने वाले मरीज इनके संपर्क में न आएं।

वहीं कटनी में Public health and family welfare departmentएडवाइजरी जारी करते हुए लोगों से अपील की है कि यदि निजी अस्पताल की जांच में डेंगू पाया जाता है तो उसकी पुष्टि शासकीय चिकित्सालय में अलाइजा टेस्ट से अवश्य करवाएं।  ठंड लगकर तेज बुखार, सिरदर्द, शरीर पर चकत्ते और उल्टी आए तो चिकित्सक की सलाह अवश्य लें। सलाह अनुसार शासकीय अस्पताल में खून की जांच करवाएं। अपने घर में कूलर, टायर, पुराने मटके में लंबे समय तक पानी जमा न रहने दें। दिन में पूरी आस्तीन के कपड़े पहनें। कूलर में एक चम्मच सरसों का तेल डाल दें इससे पानी के ऊपर तेल की परत जमने से लार्वा नहीं उत्पन्न होता है।