दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र : जनश्री के बाद आम आदमी बीमा योजना सरकार ने कर दी बंद

October 12th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। भूमिहीन मजदूरों के बच्चों के लिए शुरू की गई जनश्री बीमा योजना घोटाले की बलि चढी और उसके बाद उसकी जगह शुरू की गई आम आदमी बीमा योजना सरकार ने बंद कर दी। भूमिहीन मजदूरों के बच्चों को मिलनेवाली छात्रवृत्ती बंद हो गई। सरकार ने इनके लिए कोई नई योजना लाने की बजाय प्रीमियम भरकर प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना में मजदूरों को शामिल होने को कहा।  जनश्री बीमा योजना के तहत भूमिहीन मजदूरों व कामगारों के बच्चों को एनजीओ के माध्यम से छात्रवृत्ती दी जाती थी। केंद्र व राज्य सरकार इसका प्रीमियम भरती थी और एलआईसी विद्यार्थियों को छात्रवृत्ती देती थी। विद्यार्थियों की छात्रवृत्ती एनजीआे द्वारा हजम करने के आरोप लगे। कई जगह एनजीओ पर एफआईआर दर्ज हुई।

घोटालों व अनियमितता में फंसी इस योजना को सरकार ने बंद करते हुए इसकी जगह आम आदमी बीमा योजना शुरू की थी। इसके तहत केंद्र व राज्य सरकार मिलकर हर साल 100 रुपए का प्रीमियम एलआईसी में जमा करते थे। एलआईसी एसके बदले में कामगार की सामान्यरूप से मौत होने पर 30 हजार व दुर्घटना में मौत पर होने पर 75 हजार रुपए की क्षतिपूर्ति देती थी। इसके अलावा कामगार के 9, 10, 11 व 12 वीं में पढ़नेवाले बच्चे को सालाना 12 सौ रुपए की छात्रवृत्ती दी जाती थी। अगर बच्चा आईटीआई या पालिटेक्निक में है तो पहले व दूसरे साल छात्रवृत्ती दी जाती थी। सरकार ने प्रीमियम भरना बंद कर दिया आैर यह योजना बंद हो गई। केंद्र सरकार ने तीन साल पहले प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना लंाच की। यह योजना लागू होने के बाद आम आदमी बीमा योजना बंद कर दी गई। प्रधानमंत्री जीज्योबीयो में साल के 342 रुपए भरना पड़ता है। इसकी कटौती बैंक खाते से होती है आैर सामान्य मौत पर 2 लाख व दुर्घटना में मैात पर 4 लाख का बीमा कवर मिलता है। इसमें बच्चों के लिए कुछ भी नहीं मिलता। भूमिहीनों के बच्चों को मिलनेवाला छात्रवृत्ती का लाभ पूरीतरह बंद हो गया है।

पी. श्रीनिवास, मंडल प्रबंधक के मुताबिक जनश्री बीमा योजना घोटाले के आरोप लगने के बाद बंद हो गई थी। इसकी जगह आम आदमी बीमा योजना लाई गई थी। इसके तहत भूमिहीन व मजदूरों के 9, 10, 11 व 12 वीं में पढ़नेवाले बच्चों को सालाना 12 सौ रुपए छात्रवृत्ती दी जाती थी। प्रधानमंत्री जीवन ज्योती बीमा योजना आने के बाद आम आदमी योजना बंद हो गई। अब मजदूरों के बच्चों को छात्रवृत्ती देनेवाली कोई योजना नहीं है। प्रधानमंत्री जीवन ज्योती बीमा योजना का लाभ ले सकते है। यह योजना 18 से 50 साल के सभी लोगों के लिए है। मजदूर इसका लाभ ले सकते है। आम आदमी योजना क्यों बंद हुई, इसका जवाब हमारे पास नहीं है।


 

खबरें और भी हैं...