दैनिक भास्कर हिंदी: दिन-दहाड़े अपहरण के बाद सड़क पर नाबालिग को छोड़कर भागे युवक

March 23rd, 2019

डिजिटल डेस्क,सतना। उचेहरा थाना क्षेत्र के बिहटा में तब हडकम्प मच गया, जब चचेरी बहन के साथ नित्यक्रिया के लिए जा रही किशोरी को बाइक सवार युवकों ने अगवा कर लिया। हालाकि पुलिस के हरकत में आते ही अपहृता को गांव से कुछ दूर पर छोडकर आरोपी भाग निकले, जिसे बेहोशी की हालत में दस्तयाब कर पुलिस ने अस्पताल पहुंचा दिया।
उक्त जानकारी देते हुए थाना प्रभारी डीआर शर्मा ने बताया कि होली की दोपहर करीब 12 बजे 15 वर्षीय किशोरी अपनी चचेरी बहन के साथ नित्यक्रिया के लिए जा रही थी, तभी आरोपी ललुआ उर्फ शिवेन्द्र पटेल पुत्र गोविन्द पटेल निवासी बिहटा, एक अन्य युवक के साथ बाइक से वहां आया और जबरन किशोरी को गाड़ी में बैठाकर उचेहरा की तरफ भाग निकला। यह देखकर छोटी बहन रोते-बिलखते घर लौटी पर वहां कोई नहीं मिला। किशोरी के पिता किसी काम से उचेहरा गया था, जबकि मां देवी दर्शन के लिए मैहर रवाना हो गई थी। एक घंटे बाद पिता वापस आया, तब उसे बेटी के अगवा होने की बात पता चली तो आसपास के इलाके में तलाश करने के बाद दोपहर 3 बजे थाना पहुंच गया। जहां आईपीसी की धारा 363 के तहत कायमी कर पुलिस की अलग-अलग टीमें तलाश में लग गईं।
बेहोशी की हालत में मिली अपहृता
काफी भागदौड़ के बाद गांव से लगभग डेढ़ किलोमीटर दूर सडक के किनारे उक्त किशोरी बेसुध अवस्था में पड़ी मिल गई, जिसे परिजन की मदद से पुलिस ने अस्पताल पहुंचा दिया। उपचार के बाद उसकी स्थिति में सुधार तो हुआ, पर दहशत के चलते वह कुछ बता नहीं पा रही थी। ऐसे में पुलिस को अब पीड़िता के सामान्य होने का इंतजार है। दूसरी तरफ फरार आरोपियों की धरपकड़ के लिए भी प्रयास शुरू कर दिए गए।
पाक्सो एक्ट के आरोपी को भेजा जेल
कोलगवां पुलिस ने छेड़छाड़ और धमकी देने के आरोपी को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे पहुंचा दिया। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक सोमवार रात को किसी रिश्तेदार के निमंत्रण पर परिजन के साथ बदखर गई नाबालिग, जब पानी पीने पंडाल के पीछे जा रही थी, तभी आरोपी  रत्नेश सिंह उर्फ भय्यन पुत्र नवल सिंह 22 वर्ष निवासी घूरडॉग ने हाथ पकडकऱ अश्लील हरकत कर दी। तब पीड़िता ने विरोध किया तो गाली-गलौच करते हुए आरोपी जान से मारने की धमकी देने लगा। इस घटनाक्रम की शिकायत अगले दिन थाने में की गई तो पुलिस ने आईपीसी की धारा 341, 354, 354घ, 294, 506 और 7/8 पाक्सो एक्ट के तहत कायमी कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी। मामले की जांच कर रही सब इंस्पेक्टर रजनी पटेल ने मुखबिर की सूचना पर सहयोगी स्टाफ के साथ देर शाम घूरडांगे में दबिश देकर आरोपी रत्नेश को दबोच लिया जिसे शुक्रवार दोपहर कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया।