दैनिक भास्कर हिंदी: सेक्युलर मोर्चा बनाने के बाद बोले शिवपाल यादव, समाजवादी पार्टी में उपेक्षा हुई

August 29th, 2018

हाईलाइट

  • अखिलेश यादव की उपेक्षा का शिकार हुए शिवपाल यादव ने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का बुधवार को ऐलान किया।
  • शिवपाल ने कहा, जिस किसी का भी सपा में सम्मान नहीं हो रहा है, उसे समाजवादी सेक्युलर मोर्चे में जुड़ना चाहिए।
  • पार्टी में छोड़े दलों को जोड़ने का काम भी किया जाएगा।

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। अखिलेश यादव की उपेक्षा का शिकार हुए शिवपाल यादव ने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का बुधवार को ऐलान किया। शिवपाल ने कहा, मोर्चे से उन लोगों को जोड़ा जाएगा, जो समाजवादी पार्टी की उपेक्षा का शिकार हुए हैं। उन्होंने कहा कि अभी वे समाजवादी पार्टी नहीं छोड़ रहे हैं।

शिवपाल ने कहा, जिस किसी का भी सपा में सम्मान नहीं हो रहा है, उसे समाजवादी सेक्युलर मोर्चे से जुड़ना चाहिए। पार्टी में छोटे दलों को जोड़ने का काम भी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सपा में मुलायम सिंह यादव का सम्मान न होने के कारण वे आहत हैं। शिवपाल ने कहा कि कई ऐसे नेता हैं, जिन्हें न ही पार्टी की किसी बैठक में बुलाया जाता है और न ही उनकी कोई पूछ-परख होती है। मोर्चा बनाकर वे ऐसे लोग और छोटी पार्टियों को जोड़ना चाहते हैं।

बता दे कि शिवपाल यादव सोमवार औऱ बुधवार को मुलायम सिंह यादव से लोहिया ट्रस्ट में मुलाकात कर चुके हैं। बताया जा रहा है कि दोनों के बीच एक सेक्युलर मोर्चा बनाने और उसे मजबूत करने की बात हुई थी। मंगलवार को शिवपाल ने भाजपा के सहयोगी दल सुहेलदेव भासपा के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर से भी मुलाकात की थी। शिवपाल ने कहा था कि वे छोटे दलों को इस मोर्चे से जोड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

हाल ही में शिवपाल यादव ने पार्टी में अपनी उपेक्षा का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि मुझे पार्टी में कोई जिम्मेदार पद नहीं दिया गया और डेढ़ साल बीत जाने के बाद भी मैं इंतजार कर रहा हूं, लेकिन लगता है अब कोई दूसरा रास्ता ढूंढना पड़ेगा। चाचा शिवपाल के ‘सेक्युलर मोर्चा’ गठित किये जाने के सवाल पर एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा था कि अगर सेक्युलर मोर्चा बनता है तो अच्छी बात है। बता दें कि इसके पहले शिवपाल सिंह यादव ने नई पार्टी बनाने की अटकलों को खारिज किया था।