कार्रवाई की मांग: जिप के लेखा अधिकारी के खिलाफ कुरखेड़ा में आंदोलन

November 25th, 2022

डिजिटल डेस्क, कुरखेड़ा (गड़चिरोली)। गड़चिरोली जिला परिषद के मुख्य लेखा व वित्त अधिकारी ओमकार अंबपकर ने तीन दिन पूर्व अपने ही कार्यालय की एक महिला कर्मचारी का विनयभंग किया। इस मामले में आरोपी लेखा अधिकारी को गड़चिरोली पुलिस ने गिरफ्तार किया। अब अधिकारी के खिलाफ प्रशासकीय कार्रवाई करने की मांग काे लेकर कर्मचारी आक्रमक हो उठे हैं। गुरुवार को यहां के पंचायत समिति कार्यालय के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों ने आंदोलन करते हुए दिन भर काला फिता लगाकर कार्यालय में काम किया। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कुमार आशीर्वाद को सौंपे गये ज्ञापन में पंस के कर्मचारियों ने बताया कि, सरकारी कार्यालयों में अब महिला कर्मचारियों की सुरक्षा पर प्रश्न चिह्न अंकित होने लगे हैं। कार्यालय के वरिष्ठ अधिकारी ही यदि महिलाओं को प्रताड़ित करेंगे तो महिला कर्मचारी कार्यालय में कैसे कार्य करेगी? मुख्य लेखा व वित्त अधिकारी अंबपकर द्वारा किया गया    कार्य पूरी तरह नींदनीय होकर उनके खिलाफ प्रशासकीय कार्रवाई आवश्यक है। नियमानुसार यदि कोई अधिकारी 48 घंटों तक सलाखों के पीछे रहता है, उसे निलंबित किया जा सकता है। आरोपी अंबपकर को पुलिस हिरासत में पूरे 48 घंटे बीत गये हंै। लेकिन अब तक उनके खिलाफ काेई सख्त कार्रवाई नहीं हो पायी है। अधिकारी अंबपकर के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग इस समय कर्मचारियों ने की। आंदोलन में महिला शिकायत निवारण समिति की अध्यक्ष  वंदना ठाकरे, सहसचिव माया बालराजे, जिला परिषद कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष अरविंद मांढरेवार, जिला परिषद लिपिक संगठन के सचिव रूपेश सक्सेना, के. के. कुलसंगे, करेवार आदि समेत पंस के सभी कर्मचारी उपस्थित थे। कर्मचारियों ने दिन भर घटना का निषेध व्यक्त करते हुए काला फिता लगाकर कार्य किया। 

खबरें और भी हैं...