comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

अजित पवार 8 को करेंगे नागपुर विभाग की नियोजन समिति की समीक्षा

अजित पवार 8 को करेंगे नागपुर विभाग की नियोजन समिति की समीक्षा

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  उपमुख्यमंत्री अजित पवार सोमवार 8 फरवरी को विभागीय आयुक्तालय में नागपुर विभाग की सभी जिलों की जिला नियोजन समिति (डीपीसी) की समीक्षा करेंगे। जिला स्तर पर पालकमंत्री जिला नियोजन समिति के अध्यक्ष होते हैं। जिला नियोजन समिति की सर्वसाधारण जिला वार्षिक योजनाआें को मंजूरी देने के बारे में   राज्यस्तरीय बैठक सोमवार 8 फरवरी को दोपहर 3 से 6 बजे तक होगी। नागपुर विभाग के   गड़चिरोली, चंद्रपुर, गोंदिया, नागपुर, वर्धा, भंडारा जिले के नियोजन की समीक्षा होगी। 

निधि वितरण सूत्राें के अनुसार, राज्य सरकार की आेर से 2021-22 में नागपुर जिले के लिए 241.86, वर्धा 110.76, भंडारा 94.18, चंद्रपुर 180.95, गड़चिरोली 149.64, गोंदिया 108.39 करोड़ का नियोजन खर्च है। हर जिले ने अनपा खर्च (नियतव्यय) तय किया है। नागपुर जिले ने 2021-22 के लिए  कुल 884.90 करोड़ की मांग की है।  जिले के लिए  411 करोड़ की लिमिट है आैर जिला नियोजन समिति ने राज्य सरकार से  473 करोड़ की अतिरिक्त मांग की है। इस बैठक में नागपुर के पालकमंत्री डॉ. नितीन राऊत, गड़चिरोली के पालकमंत्री एकनाथ शिंदे, चंद्रपुर के पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार, गोंदिया के पालकमंत्री अनिल देशमुख, वर्धा के पालकमंत्री सुनील केदार, भंडारा के पालकमंत्री डॉ. विश्वजीत कदम समेत विदर्भ के जिलाधीश, जनप्रतिनिधि उपस्थित रहेंगे। 

राकांपा के पदाधिकारियों के काम का होगा आॅडिट
 राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने विविध चुनावों की तरह मनपा चुनाव के लिए भी संगठनात्मक ताकत बढ़ाने का निर्णय लिया है। संगठन कार्य को गति दी जा रही है। मनपा चुनाव के लिए वार्ड स्तर पर जिम्मेदारियां तय की जाएगी। संगठन के शहर, विभाग व प्रदेश स्तर के पदाधिकारियों की जिम्मेदारी निश्चित की जाएंगी। एक पदाधिकारी दो वार्ड का फार्मूला मोटे तौर पर रहेगा। पदाधिकारियों के कार्यों का आॅडिट भी होगा। वार्ड स्तर पर संगठन कार्य की समीक्षा के बाद पदाधिकारियों को प्रोत्साहन देने के बारे में निर्णय लिया जाएगा। राकांपा सूत्र के अनुसार, 1 व 2 फरवरी को प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील ने पदाधिकारियों से चर्चा के दौरान में कार्य समीक्षा के बारे में जानकारी दी  है। उपमुख्यमंत्री अजित पवार 8 फरवरी को शहर में होंगे। वे नागपुर के अलावा पूर्व विदर्भ विभाग के पदाधिकारियों से चर्चा कर विविध चुनाव संबंधी टिप्स देंगे। 

पाटील के बाद पवार देंगे जनता से जुड़ने के टिप्स
खबर है कि प्रदेश अध्यक्ष पाटील ने अलग-अलग प्रमुख नेताओं से चर्चा कर संगठन कार्य में आ रही अड़चनों के बारे में जानकारी ली है। इसमें एक बात प्रमुखता से सामने आई है कि विकास मामलों में राकांपा के सहयोग को इस क्षेत्र में कम आंका जा रहा है। भाजपा या कांग्रेस ही विकास मामले में पूर्व विदर्भ में श्रेय ले जाती है। लिहाजा अब स्थानीय निकाय संस्थाओं के माध्यम से राकांपा अपनी विकास संबंधी छवि सामने लाने का प्रयास करेगी। जिला नियोजन समिति, जिला परिषद, पंचायत समिति से लेकर विविध संस्थाओं को अपेक्षित निधि देने के बारे में निर्णय लिया जाएगा। अजित पवार वित्तमंत्री भी हैं। वे इस क्षेत्र में वित्त नियोजन के कार्यों की भी समीक्षा करेंगे।

शहर कार्यकारिणी का विस्तार लंबित
राकांपा की शहर कार्यकारिणी के विस्तार का विषय लंबित रह गया है। चुनाव तैयारी के तहत िवस्तार कार्य को गति दी जाएगी। बताया जा रहा है कि अजित पवार शहर ही नहीं, पूर्व विदर्भ में संगठन विस्तार के बारे में चर्चा कर पार्टी में उच्च स्तर पर जानकारी देंगे। उसके बाद उचित निर्णय लिया जाएगा। 

कमेंट करें
aJCgT