दैनिक भास्कर हिंदी: लखनऊ: उजड़े सरकारी बंगले को लेकर सपा और बीजेपी के बीच घमासान

June 10th, 2018

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने सरकारी बंगला खाली तो कर दिया, लेकिन अब ये आलीशान बंगला पूरी तरह से उजड़ गया है। बीजेपी ने अखिलेश यादव पर सरकारी बंगले में तोड़फोड़ करने का आरोप लगाते हुए जांच की बात कही है, वहीं अखिलेश ने सफाई देते हुए बीजेपी पर उन्हें बदनाम करने का आरोप लगाया है। सपा नेता सुनील यादव ने इसे सीएम योगी की साजिश बताया है।

 

 

दरअसल सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कुछ दिन पहले ही अखिलेश यादव ने समान शिफ्ट कर लखनऊ स्थित सरकारी बंगले को राज्य संपति विभाग को हैंडओवर कर दिया था। अखिलेश ने इसे अपने सीएम के पद पर रहते हुए बनवाया था। बंगले को भव्य रूप देने और साज सज्जा में सरकार के करीब 42 करोड़ रुपए भी खर्च किए गए थे। 

 

 

लेकिन अब जो तस्वीरें सामने आई हैं, उनमें बंगला खडंहर की तरह नजर आ रहा है। स्वीमिंग पूल को कंक्रीट और सीमेंट से भर दिया गया है, किचन में लगे टाइल्स उखाड़ दिए गए हैं और बाथरूम की फिटिंग्स भी उखड़ी हुआ है। बंगले में लगे विदेशी टाइल्स, जिम और विदेशी पौधों को सरकारी खर्च पर लगाया गया था उन्हें भी उजाड़ दिया गया है।

 

 

अब बीजेपी इसे अखिलेश यादव सरकार के पैसे के दुरूपयोग से जोड़कर देख रही है। बीजेपी ने अखिलेश यादव पर बंगला खाली करने से पहले उसमें तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया है। बीजेपी ने सवाल खड़ा कर दिया है कि जनता की कमाई के सरकारी पैसे के दुरूपयोग का जिम्मेदार आखिर कौन होगा। बीजेपी प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने सवाल पूछा है कि टाइल्स तोड़ने का मकसद क्या था? उसके नीचे क्या चीजें दबी थीं?

 

 


योगी सरकार के मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने अखिलेश पर आरोप लगाते हुए कहा कि ये सरकारी संपत्ति है उन्हें इसे नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने जांच की बात भी कही है।

 

 

सपा नेता सुनील यादव ने सीएम पर लगाया आरोप 

अखिलेश के बचाव में आए सपा नेता सुनील यादव ने सीएम योगी पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकारी बंगले की चाबियां सौंपे जाने के बाद उसके अंदर नुकसान सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश पर हुआ है। ये सब जनता के बीच अखिलेश यादव की छवि को नुकसान पहुंचाने के लिए किया गया है।

 

 

सफाई में बोले अखिलेश- बीजेपी मुझे बदनाम करना चाहती है

आरोपों के बीच अखिलेश यादव ने सफाई देते हुए कहा, बीजेपी मुझे बदनाम करना चाहती है। अगर उन्हें या सरकार को लगता है कि यह नुकसान हमारी तरफ से हुआ है तो टूटे-फूटे और गायब सामानों की लिस्ट हमें उपलब्ध कराएं, हम इसकी भरपाई कर देंगे। इसके आगे अखिलेश ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा, अगर मीडिया को बंगला दिखाना ही था तो पूरा बंगला दिखाना चाहिए था। जरूरत पड़े तो शौचालय भी दिखाएं। अपने मन के मुताबिक दिखाकर बदनाम करना बीजेपी का काम है।

 


गौरतलब है कि इस आलीशान बंगले में कई ब्लॉक थे। करीब 25 रूम, बड़ा किचन, जिम के आलावा एक भव्य वेटिंग रूम बनाया गया था। अखिलेश यादव का ऑफिस भी था। सिक्योरिटी गार्ड्स के लिए एक ब्लॉक था। वायरिंग, फॉल्स सीलिंग, एयरकंडीशन और बाथरूम तक कई जगह टाइल्स भी उखड़ी हुई हैं। बंगले में एक जिम और स्वीमिंग पूल भी बनाया गया था। गार्डन विदेशी पौधों से सजाया गया था, लेकिन अब ये सब बंगले में कहीं नजर नहीं आ रहे।