comScore

अलर्ट; लगातार मास्क लगाना भी कर सकता है बीमार  

अलर्ट; लगातार मास्क लगाना भी कर सकता है बीमार  

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  लॉकडाउन में छूट मिलते ही मास्क लगाए सुबह-शाम जॉगिंग करते चेहरे दिखने लगे हैं। घबराहट में हम कुछ ज्यादा ही एहतियात बरतने लगते हैं- जैसे लगातार मास्क लगाना। ये आपको बीमार बना सकता है। खासतौर पर रनिंग या जॉगिंग में मास्क लगाना। हम कार्बन-डाई-ऑक्साइड छोड़ते हैं, मास्क के कारण वही Co2 फेफड़ों मे पहुंचती है,  जो ऑक्सीजन को कम कर देती है, जिससे फेफड़े व अन्य अंग खराब हो सकते हैं। इस खतरे से बचने का उपाय भी जरूरी है।

कब और कहां जरूरी है मास्क - जानें
- आप स्वस्थ हैं तो मास्क की ज़रूरत तभी है जब आप किसी कोरोना संक्रमित की देखभाल कर रहे हों। 
-अगर आपको सर्दी-खांसी है। गले में खराश है और थकान भी लग रही है तो मास्क पहनें और घर पर आराम ही करेंं। जरूरत होने पर डॉक्टर  को दिखाएं।
- मास्क पहनने से सुरक्षित हो ऐसा नहीं है। मास्क पहनना तभी कारगर होगा जब हाथ भी साफ़ रहें।
-भीड़भाड़ वाली किसी भी जगह पर जाने के समय मास्क अवश्य पहनें।
-मास्क को जितनी जल्दी हो सके बदलें और कोशिश करें कि सिंगल-यूज़ मास्क को दोबारा लगाने से बचें।

यहां जरूरी नहीं है मास्क
-आप बिल्कुल स्वस्थ हैं और घर पर ही हंै तो मास्क लगाने की जरूरत नहीं है। 
-एक्सरसाइज करते समय मास्क न ही पहनें। मास्क से शरीर को उतना ऑक्सीजन नहीं मिल पाता, जितना आवश्यक है। 
-कम आॅक्सीजन से  फेफड़े संबंधी  समस्या का सामना  करना पड़ सकता है। 
-मास्क के अलावा सोशल डिस्टेंसिंग व हैंड सैनिटिज़ेशन का पालन भी करें। 
-आप कार चला रहे हैं और कार में अकेले हैं तो भी मास्क लगाने की कोई जरूरत नहीं है।  

तीन जून से मिलेगी कुछ छूट
साइकिलिंग, जॉगिंग, रनिंग कर सकेंगे। इसके लिए सार्वजनिक स्थान, बगीचे में, निजी मैदान पर, सोसायटी और संस्थागत मैदान, बगीचों पर सुबह 5 से 7 बजे तक अनुमति होगी। व्यायाम, जॉगिंग, साइकिलिंग करते समय किसी भी प्रकार से इकट्ठा या जमा नहीं हो सकते।

कमेंट करें
uMUGV