खतरा: ठाणे और पालघर में बर्ड फ्लू की दस्तक के बाद चंद्रपुर में अलर्ट!

February 22nd, 2022

डिजिटल डेस्क, चंद्रपुर। कोरोना संक्रमण का असर कम नहीं होता कि राज्य के ठाणे, पालघर आदि स्थानों पर बर्ड फ्लू के मामले सामने आए हैं। इसके मद्देनजर चंद्रपुर अलर्ट रहने के साथ संभावित स्थिति से निपटने आवश्यक उपाय योजना करने के निर्देश आए हैं। सूचनाओं को देखते हुए पशुसंवर्धन विभाग ने आवश्यक कदम उठाने शुरू किए हैं।  पशुसंवर्धन आयुक्त सचींद्रप्रतापसिंह ने वीसी के माध्यम से चंद्रपुर के साथ अन्य जिलों के अधिकारियों से बैठक कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए और अलर्ट रहने के लिए कहा है। साथ ही  सावधानी बरतने पोल्ट्री फार्म धारकों से संवाद किया। चंद्रपुर के करीब 20 पोल्ट्री फार्म धारक ऑनलाइन वीसी में शामिल हुए थे। आयुक्त ने बायोसेक्युरिटी संबंध में जानकारी दी, जिसमें पोल्ट्री फार्म में एक तरह की पक्षी रखे, वहां लोगों व वाहनों का आवागमन कम करने के लिए कहा गया। इसके अलावा विभाग को रैपिड रिस्पॉन्स टीम, जिले के विविध पोल्ट्री फार्म का मुआयना करने के निर्देश दिए हैं। 

ज्ञात हो कि, पिछले वर्ष जनवरी माह से मार्च माह तक बर्ड फ्लू का प्रकोप था। लेकिन चंद्रपुर में स्थिति काबू में थी। सिर्फ मृतावस्था में मिले कौवे की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, किंतु मुर्गी पालन, चिकन व्यवसाय प्रभावित हुआ था। हालांकि जानकारों का कहना है कि, ठीक से पका हुआ चिकन खाने के लिए सुरक्षित है। जिले में 35 फार्म : जिले की 9 तहसीलों में 5 हजार मुगिर्यों की क्षमतावाले 35 पोल्ट्री फार्म है। मूल में सर्वाधिक 16 फार्म है। वहीं सावली 3, नागभीड़ 1, सिंदेवाही 3, भद्रावती 2, वरोरा 3, चिमूर 3, चंद्रपुर 2 और पोंभुर्णा में 1 फार्म है।  कुछ चुनिंदा लोग ही कॉकरेल व गावठी मुर्गा पालते हंै। दरम्यान विभाग द्वारा संभावित संकट के मद्देनजर तहसील स्तर पर टीम बनाई गई हैं किंतु विभाग में रिक्त पदों से मैन पॉवर कमी भी गंभीर मुद्दा है। 

सीरो सर्वे में भिजवाए 500 नमूने
जानकारी के अनुसार पशु विभाग द्वारा दिसंबर माह में सीरो सर्वे किया गया। 16 गांवों में किए गए इस सर्वे में करीब 500 सैम्पल लिए गए। जिसे जांच के लिए पुणे की प्रयोगशाला में भेजा गया था। उसकी रिपोर्ट निगेटिव आने की जानकारी जनवरी 2022 में मिली है। विभाग के अनुसार बीमारी आए या नहीं, हर साल यह सर्वे किया जाता है। ऐसे में अब बर्ड फ्लू के संभावित संकट के बीच फिलहाल सर्वे करने के आदेश अब तक आए नहीं है।

फिलहाल कोई समस्या नही 
ठाणे, पालघर में सामने आए मामले के मद्देनजर रविवार को आयुक्त ने वीसी के माध्यम से बैठक लेकर दिशा-निर्देश दिए। पोल्ट्री फार्म धारकों से संवाद साधा। फिलहाल चंद्रपुर में चिंता की बात नहीं है। हर गतिविधियों पर बारीकी से नजर है। विभाग द्वारा टीम बनाकर आवश्यक उपाय योजना की जा रही है। अलर्ट रहना जरूरी है।      - डा. मंगेश काले, जिला  पशुसंवर्धन उपायुक्त, जिला पशुसंवर्धन उपायुक्त कार्यालय, चंद्रपुर